संतान को अच्छे संस्कार देना सर्वोत्तम उपहार: स्वामी धर्मदेव
April 8th, 2021 | Post by :- | 40 Views

होडल, (मधुसूदन भारद्वाज), संसार में संतान को देने के लिए यदि कोई सर्वोत्तम उपहार है तो वह है – संस्कार। आज स्व. पिता जगन्नाथ कालड़ा एवं मां नारायणी देवी के द्वारा दिए हुए संस्कारों के कारण ही स्व.राधेश्याम कालड़ा को उनके सामाजिक कार्यों के लिए याद किया जा रहा है। उक्त विचार महामंडलेश्वर स्वामी धर्मदेव महाराज ने स्व. राधेश्याम कालड़ा की शोक सभा में व्यक्त किए। इस अवसर पर वृंदावन मोतीझील आश्रम से महामंडलेश्वर स्वामी जगदानंद जी महाराज, स्वामी उमानंद जी महाराज, स्वामी रजनीशानंद जी महाराज, स्वामी सदानंद जी महाराज ने भी अपनी श्रद्धांजलि अर्पित की। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल, केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्य मंत्री कृष्णपाल गुर्जर, कैबिनेट मंत्री मूलचंद शर्मा, मुख्यमंत्री के राजनैतिक सचिव अजय गौड़, फरीदाबाद और पलवल के जिला अध्यक्ष क्रमशः गोपाल शर्मा एवं चरण सिंह तेवतिया, विधायक सीमा त्रिखा दीपक मंगला ने अपने शोक संदेश भेजते हुए राधेश्याम कालड़ा के निधन को भारतीय जनता पार्टी के साथ-साथ समाज के लिए भी अपूर्णीय क्षति बताया। श्रद्धांजलि सभा में स्थानीय विधायक जगदीश नायर, पूर्व मंत्री सुभाष का कत्याल, पूर्व विधायक उदयभान, नगर परिषद् अध्यक्ष पति राजकुमार तायल तिगांव के विधायक राजेश नागर के पिता रूप चंद नागर, हरेंद्रपाल राणा, वीरपाल दीक्षित, एल.डी. वर्मा, डॉ. नवीन रोहिल्ला, नूंह के पूर्व विधायक जाकिर हुसैन के पुत्र ताहिर हुसैन, ब्रह्मकुमारी आश्रम से दीदी शालू गुप्ता, दीदी पूनम, ज्योति कालड़ा,बृजेश शर्मा आदि ने भी श्रद्धांजलि सभा में बोलते हुए कहा कि स्व. राधेश्याम कालड़ा जी का जीवन सदैव समाज सेवा के कार्यों में ही समर्पित रहा। वह बहुत ही सहज, सरल, मृदुभाषी तथा धार्मिक प्रवृत्ति व्यक्ति थे तथा हमेशा परमार्थ के कार्यों में लगे रहते थे। इस अवसर पर ओमप्रकाश अदलक्खा, रूपा ठुकराल, ओमप्रकाश ग्रोवर, सुभाष खन्ना, श्याम कालड़ा, ओमप्रकाश बांगा, गोपाल कृष्ण, रमनलाल, प्रेम कुमार, पुनीत, मनीष, साहिल, आरती, गौरी, भावना, गुंजन, हिमानी कालड़ा आदि उपस्थित रहे। कालड़ा परिवार की ओर से स्व. राधेश्याम के भतीजे एवं नगर परिषद् के मनोनीत पार्षद मोहित उर्फ मोनू कालड़ा ने कहा कि उनके परिवार द्वारा पूर्व की भांति ही सामाजिक कार्य जारी रहेंगे तथा समाज सेवा में भागीदारी रहेगी।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।