जौनपुर में कोटेदारों को कोविड टीकाकरण का फर्जी आदेश देकर निरीह जनता को परेशान कर रहा है जिला पूर्ति अधिकारी।
April 8th, 2021 | Post by :- | 426 Views

जौनपुर।(फिरोज खान पठान)जौनपुर में लगभग शहर के तमाम कोटेदार कार्ड धारकों को राशन देने से इसलिए मना कर रहे हैं कि कि अगर उनके घर में कोई भी एक व्यक्ति जिसकी उम्र लगभग 45 साल से ऊपर है तो कोविड-19 का टीका लगा होना चाहिए नहीं तो उनको राशन कार्ड से गल्ला नहीं दिया जाएगा, कहीं-कहीं तो कोटेदार इसकी आड़ में अवैध वसूली भी कर रहे हैं और टीका ना लगा होने के बदले प्रति राशनकार्ड ढाई सौ से लेकर पांच सौ रूपये तक की वसूली भी कर रहे हैं,

वही शासन- प्रशासन की तरफ से ऐसा कोई भी आदेश नहीं है कि बिना टीकाकरण के लोगों को गल्ला ना दिया जाए जबकि गोदाम से सभी कोटेदारों को अप्रैल माह का पूरा पूरा गल्ला निर्गत कर दिया गया है।,
वही इस बाबत जब जिला पूर्ति अधिकारी से जौनपुर के सीनियर पत्रकार ने बात करना चाहा तो उन्होंने फोन उठाना मुनासिब नहीं समझा और व्हाट्सएप पर भी पूछे जाने पर कोई जवाब नहीं दिया,

बाद मे एक पार्टी के जिलाधिकारी द्वारा पुछे जाने पर जिला पूर्ति अधिकारी ने फोन पर बात कर कहा कि टीका अनिवार्य नहीं है लेकिन लोग टीका नहीं लगवा रहे हैं इसलिए दबाव बनाने के लिए ऐसा कहा गया है ।और घर में कोई भी एक व्यक्ति टीका का इंजेक्शन लगवा ले जिसकी उम्र 45 वर्ष से अधिक हो और कार्ड दिखा दे राशन मिल जाएगा अजय प्रताप ने स्पष्ट किया कि शासन से कोई ऐसा आदेश नहीं है।

ऐसे मे सवाल यह उठता है कि जब शासन से कोई आदेश नहीं है तो इस तरीके के फर्जी आदेश देकर आखिर जिला पूर्ति अधिकारी किसको खुश करना चाह रहे है।जबकि टीकाकरण का काम तो स्वास्थ्य विभाग का है ।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।