प्रधान के 33,बीडीसी के 37 व ग्राम पंचायत सदस्य के 440 पर्चे हुए निरस्त।
April 7th, 2021 | Post by :- | 35 Views

जौनपुर(आँचल सिंह)।त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के प्रथम चरण में हो रहे चुनाव के क्रम में नामांकन प्रक्रिया मंगलवार की रात दस बजे तक पूरी नहीं हो सकी थी। ब्लाकों से लेकर कलेक्ट्रेट तक आरो-एआरओ जांच प्रक्रिया में लगे रहे। जिला पंचायत सदस्य के पर्चों की जांच की स्थिति रात दस बजे तक स्पष्ट नहीं हो सकी थी। वहीं ब्लाकों में हुए पर्चों की जांच में ग्राम प्रधान के 33, बीडीसी के 37 व ग्राम पंचायत सदस्य के 440 पर्चों के निरस्त होने की जानकारी हो सकी। सभी पर्चों की जांच के बाद नामवापसी बुधवार को तीन बजे तक होने के बाद चुनाव चिन्ह का आवंटन किया जाएगा।

जांच के क्रम में केराकत ब्लाक में प्रधान पद के 567 में से दो व ग्राम पंचायत सदस्य के 727 में से 20 पर्चे निरस्त किए गए। वहीं बदलापुर ब्लाक में प्रधान के 908 पर्चों में से सात, बीडीसी के 610 में पांच, ग्राम पंचायत सदस्य के 636 में 74, मछलीशहर ब्लाक में प्रधान के 924 में दो, बीडीसी के 527 में एक, ग्राम पंचायत सदस्य के 868 में 63, बरसठी ब्लाक में प्रधान पद के 851 में एक, बीडीसी के 729 में तीन, जलालपुर ब्लाक में प्रधान के 534 में तीन, बीडीसी के 559 में पांच, ग्राम पंचायत सदस्य के 301 में 18, शाहगंज सोंधी ब्लाक में प्रधान के 389 पर्चों की जांच में चार, बीडीसी के 267 में पांच, ग्राम पंचायत के 947 में 58 पर्चे निरस्त किए गए। मुंगराबादशाहपुर ब्लाक में प्रधान पद के 725 में तीन, बीडीसी के 470 में चार, ग्राम पंचायत सदस्य के 761 में 61, सुजानगंज ब्लाक में प्रधान पद के एक हजार नौ में तीन, बीडीसी के 568 में एक भी नहीं, ग्राम पंचायत सदस्य के एक हजार 67 में 98, महाराजगंज ब्लाक में प्रधान पद के 849 में आठ, बीडीसी के 672 में चार, ग्राम पंचायत सदस्य के 678 में 36 तो सिरकोनी ब्लाक में प्रधान पद के 646 में एक भी नहीं, बीडीसी के 431 में 10, ग्राम पंचायत सदस्य के 543 में 12 निरस्त किए गए। संबंधित आरो ने बताया कि आवश्यक अभिलेखों व मानकों को पूरा न करने के कारण पर्चों को खारिज किया गया।

मृतक के नाम दाखिल
पर्चा हुआ खारिज

जौनपुर, मुंगराबादशाहपुर क्षेत्र के रामपुर पकड़ी ग्राम पंचायत में ग्राम प्रधान पद के लिए एक दावेदार मृतक पाईं गईं। उनके नाम दाखिल किया गया पर्चा खारिज कर दिया गया। गांव निवासी तेरसू बनवासी की पत्नी संजू उर्फ बुधनी की कई साल पहले मौत हो चुकी है। उसने दूसरी शादी की है। अपनी दूसरी पत्नी को मृतक संजू उर्फ बुधनी बनाकर पर्चा दाखिल कर दिया था। जांच में पर्चा निरस्त कर दिया गया।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।