एमवीएन विश्व विद्यालय के प्रांगण में लाइफ लाइन चैरिटेबल ब्लड बैंक के सहयोग से किया गया रक्तदान शिविर का आयोजन|
September 20th, 2019 | Post by :- | 111 Views

हसनपुर पलवल (मुकेश वशिष्ट)  :- एमवीएन विश्व विद्यालय के प्रांगण में लाइफ लाइन चैरिटेबल ब्लड बैंक के सहयोग से रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया जिसका शुभारंभ विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ जे०वी० देसाई और कुलसचिव डॉ राजीव रतन ने रक्तदान करके किया| विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ जे०वी० देसाई ने कहा कि रक्तदान एक बहुत ही उल्लेखनीय नेक कार्य है जो दुनिया के सभी उपहारों में सबसे कीमती है| उन्होंने कहा कि सभी स्वस्थ मनुष्यों का धार्मिक कर्तव्य है कि वे पृथ्वी पर मौजूद सभी अस्पतालों में रक्त की पर्याप्त मात्रा को सुनिश्चित करें ताकि समय आने पर जरूरतमंद के जीवन को सुरक्षित किया जा सके| विश्वविद्यालय के कुलसचिव डॉ० राजीव रतन ने कहा कि  हमारे द्वारा किया गया रक्तदान न केवल जरूरतमंद के जीवन को सुरक्षित करता है बल्कि यह हमें कई प्रकार की समस्याओं रक्तचाप, वजन बढ़ना, लीवर की समस्याओं इत्यादि से भी बचाता है|

गोविंद राम मैनेजिंग डायरेक्टर लाइफ लाइन चैरिटेबल ब्लड बैंक पलवल ने बताया कि रक्तदान हमें कई प्रकार की समस्याओं से बचाने के अलावा मानसिक संतुष्टि भी देता है कि  हमारे द्वारा दिया गया रक्त किसी  के जीवन को बचाता है|

फार्मेसी विभाग के विभाग अध्यक्ष डॉ तरुण विरमानी ने कहा कि लोगों के मन में  रक्तदान को लेकर धारणा रहती है कि इससे शरीर में कमजोरी आती है, वजन घटता है, जोकि बिल्कुल गलत धारणा है| उन्होंने विभाग के  छात्र एवं छात्राओं को रक्तदान के लिए  काफी उत्साहित किया| ब्लड बैंक से आए प्रतिनिधियों ने विश्व विद्यालय के सभी अध्यापक गण एवं विद्यार्थियों को रक्तदान के नियमों के बारे में अवगत कराया|  इस अवसर पर विश्वविद्यालय के सभी अध्यापक गण एवं छात्र छात्राओं ने खूब बढ़-चढ़कर भाग लेते हुए रक्तदान किया|  रक्तदान को लेकर छात्र एवं छात्राओं में काफी उत्साह दिखाई दिया जिसके परिणाम स्वरूप लगभग 198 लोगों ने रक्तदान किया और विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ० जे०वी० देसाई से इस शिविर को बार-बार लगवाने का आग्रह किया|  इस अवसर पर विश्वविद्यालय के सभी विभागों के सहायक अध्यापक गण छात्र एवं छात्राओं के साथ उपस्थित रहें|

 

 

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।