महंगाई बढ़ाने के विरोध में कलेक्ट्रेट ऑफिस के बाहर चूल्हे पर बनाई चाय और रोटी
March 4th, 2021 | Post by :- | 62 Views

जयपुर,(सुरेन्द्र कुमार सोनी) । जयपुर कलेक्ट्रेट कार्यालय के बाहर चूल्हे पर चाय बनाकर बढ़े हुए रसोई गैस के दामों का यूथ कांग्रेस के कार्यकर्ताओं के द्वारा विरोध किया गया व मोदी सरकार के खिलाफ नारेबाजी करके गैस के बढ़े दाम वापस लेने की मांग की। देश में पेट्रोल-डीजल और रसोई गैस के दामों में हुई बेहताशा वृद्धि के विरोध में मंगलवार को कांग्रेस की यूथ विंग ने जयपुर कलेक्ट्रेट पर अनूठा विरोध प्रदर्शन किया। कलेक्ट्रेट के बाहर कार्यकर्ताओं ने मिट्‌टी के चूल्हे पर रोटी और चाय बनाई और कार्यकर्ताओं को पिलाई। इस दौरान कार्यकर्ताओं ने केन्द्र की मोदी सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की और बढ़े हुए गैस के दाम को वापस लेने की मांग की। इससे पहले कार्यकर्ता यूथ कार्यालय से कलेक्ट्रेट तक रैली निकालकर पहुंचे। कलेक्ट्रेट कार्यालय के बाहर पहुंचते ही कार्यकर्ताओं ने मोदी सरकार के खिलाफ नारेबाजी की और मिट्‌टी का चूल्हा लाकर उसमें लकड़ी, गोबर के कंडे जलाकर चाय बनाई। इस दौरान प्रदर्शन में मौजूद एक महिला कार्यकर्ता ने मौके पर ही आटा गूंथा और उससे रोटी बनाई। चूल्हे पर बनी चाय सभी कार्यकर्ताओं को पिलाई गई। विरोध कर रहे यूथ कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने बताया कि रसोई गैस पर मिलने वाली सब्सिडी को केन्द्र सरकार ने बंद कर दिया। गैस के दामों में लगातार बढ़ोतरी की जा रही है। कोरोनाकाल में लोग वैसे ही बेरोजगारी और महंगाई से परेशान है। वहीं दूसरी ओर कांग्रेस के इस प्रदर्शन को भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्‌डा के जयपुर दौर से भी जोड़कर देखा जा रहा है। क्योंकि केन्द्र में भाजपा की सरकार है और कांग्रेस की ओर से केन्द्रीय नेतृत्व को मंहगाई के प्रति मैसेज देने के लिए ऐसे समय विरोध प्रदर्शन किया गया है। ये प्रदर्शन सिर्फ जयपुर में ही किया जा रहा है। रसोई गैस की बात करें तो बीते एक माह के अंदर 125 रुपए बढ़ा दिए हैं। इसके विपरित रसोई गैस पर मिलने वाली सब्सिडी को सरकार ने अघोषित तौर पर पिछले 10 माह से बंद कर रखी है। रसोई गैस में बढ़ोतरी का असर आमजन के रसोई के बजट पर पड़ रहा है। इसी तरह पेट्रोल-डीजल के दामों में भी जबरदस्त बढ़ोतरी की गई। तेल कंपनियों ने इस साल की शुरूआत से अब तक दो माह के अंदर पेट्रोल की कीमतों में 7.89 रुपए और डीजल में 8.16 रुपए लीटर तक की बढ़ोतरी कर दी है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।