राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर छाए चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी में पढ़ रहे हरियाणा के छात्र
March 3rd, 2021 | Post by :- | 49 Views

कैथल(ब्यूरो चीफ लोकहित एक्सप्रेस विशाल चौधरी)एशिया की सबसे तेजी से विकसित हो रही चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी, घड़ूआं में पढ़ रहे हरियाणा के विद्यार्थी विभिन्न क्षेत्रों में उच्च उपल4िधयां हासिल कर वैश्विक स्तर पर अपनी पहचान बना रहे हैं। पिछले साल चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी कैंपस प्लेसमेंट के दौरान हरियाणा के 1033 विद्यार्थियों को गूगल, एमाजॉन, कोग्निजेंट और माइक्रोसॉफ्ट जैसी विभिन्न मल्टीनेशनल कंपनियों ने आकर्षक वार्षिक पैकेज पर नौकरी के ऑफर दिए हैं। यह जानकारी चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी के प्रो-चांसलर डॉ. आरएस बावा ने कैथल के कोयल काम्प्लेक्स में प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान पत्रकारों के साथ साझा की।इस बारे में अतिरिक्त जानकारी देते हुए डॉ. बावा ने कहा कि हरियाणा के 4000 से अधिक विद्यार्थी चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी में अध्ययनरत हैं और यूनवर्सिटी कैंपस प्लेसमेंट में 691 से अधिक मल्टीनेशनल कंपनियों द्वारा प्लेसमेंट ऑफर लेटर पाने वाले यूनिवर्सिटी के कुल 6617 छात्रों में से15 प्रतिशत छात्र हरियाणा राज्य के हैं। उन्होंने बताया कि साल2020 के दौरान कैथल के 140 छात्रों को विभ्रिन्न बहुराष्ट्रीय कंपनियों ने प्लेसमेंट ऑफर प्रदान किए हैं, जिनमें से 60 इंजीनियरिंग, 30 एमबीए, 10 होटल मैनेजमेंट और शेष अन्य क्षेत्रों से संबंधित हैं। डॉ. बावा ने कहा कि यूनिवर्सिटी में क6प्यूटर साइंस इंजीनियरिंग बिग डाटा के तहत पढ़ रही दिव्यांशी को 5कंपनियों ने नौकरी का प्रस्ताव दिया है, जिनमें मल्टीनेशनल कॉर्पोरेशन एमडॉकस, कोग्निजेंट, विप्रो, टीसीएस और प्लेसिंपल लिमिटेड शामिल है। इसके अतिरिक्त क6प्यूटर साइंस इंजीनियरिंग के तहत पढ़ रहे कुरुक्षेत्र के आयूष को २ कंपनियों ने नौकरी की पेशकश की है, जिनमें 1लाउडजिन और कैपजैमिनी शामिल है। डा. बावा ने बताया कि यूनिवर्सिटी के बैच 2021 के विद्यार्थियों को ३२५ से अधिक मल्टीनेशनल कंपनियों ने 3000से अधिक प्लेसमेंट ऑफर प्रदान किए हैं, जिनमें सबसे अधिक ऑफर देने वाली कंपनियों में कोग्निीजेंट 660 ऑफर, कैपजैमिनी 349, विप्रो 287, टीसीएस 162 और टीईए1स 101 ऑफर शामिल हैं।

प्लेसमेंट ही नहीं, बल्कि रिसर्च और इनोवेशन के क्षेत्र में भी हरियाणा के छात्रों ने बढिय़ा प्रदर्शन किया है। इस बारे में बात करते हुए डॉ. बावा ने बताया कि यूनिवर्सिटी द्वारा साल-2020 में फाइल किए गए कुल 900 पेटेंट में से 76 पेटेंट हरियाणा के होनहार विद्यार्थियों द्वारा फाइल किए गए हैं। प्रो. बावा ने कहा कि ऑफिस ऑफ दि कंट्रोलर जनरल ऑफ़ पेटेंट डिज़ाइन एंड ट्रेड माकर्स, भारत सरकार द्वारा जारी की गई रैंकिंग में चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी ने देशभर के विश्वविद्यालयों में पहला और ओवरऑल शैक्षणिक संस्थानों में दूसरा स्थान हासिल किया है। वहीं यूनिवर्सिटी द्वारा शुरू किए गए 108 स्टार्टअप में हरियाणा के विद्यार्थी 23 स्टार्टअप शुरु कर स्वरोजगार के क्षेत्र में अन्य युवाओं के लिए प्रेरणा बने हैं। उन्होंने बताया कि यूनिवर्सिटी द्वारा रिसर्च को प्रोत्साहित करने के लिए 6.5 करोड़ रुपए सालाना बजट प्रस्तावित किया गया है। खेलों में हरियाणा के छात्रों की बात करते हुए डॉ. बावा ने कहा कि यूनिवर्सिटी के खिलाडिय़ों द्वारा राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय, खेलो इंडिया गेम और ऑल इंडिया इंटर यूनिवर्सिटी खेलों में हासिल कुल 133 मेडल में से 72 मेडल हरियाणा के छात्रों ने अपने नाम किए हैं। डा. बावा ने कहा कि यूनिवर्सिटी के युवाओं द्वारा अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्राप्त 1 मेडल में से 4, राष्ट्रीय स्तर और खेलो इंडिया गेम में कुल 31 में से 29 और ऑल इंडिया इंटर यूनिवर्सिटी खेलों में कुल 13 मेडल में से 47 मेडल हरियाणा के छात्रों ने हासिल किए हैं। डॉ. बावा ने बताया कि यूनिवर्सिटी में बीए के तहत पढ़ रही रोहतक की शशि चोपड़ा ने कजाखिस्तान और बुल्गारिया में हुई इंटर नेशनल बॉक्सिंग चैंपियनशिप में 2 गोल्ड और 1 सिल्वर मेडल हासिल किया है, वहीं बीपीएड स्टूडेंट व हिसार की सोनिया ने पेंकेकसिलाट ऑल इंडिया इंटर यूनिवर्सिटी खेलों में 1 गोल्ड, २ सिल्वर; राष्ट्रीय स्तर पर 1 गोल्ड, 1 सिल्वर और एशियन चैंपियनशिप साउथ कोरिया में 1 गोल्ड मेडल प्राप्त किया है। डॉ. बावा ने कहा कि चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी ने दुनियाभर के 68 देशों के 306 विश्वविद्यालयों के साथ गठबंधन स्थापित किया है, ताकि विदेशी विश्वविद्यालयों के साथ अकादमिक और सांस्कृतिक आदान-प्रदान के जरिए छात्रों को अंतरराष्ट्रीय स्तर का ज्ञान मुहैया करवाया जा सके। उन्होंने बताया कि यूनिवर्सिटी के इंटरनेशनल आर्टिकुलेशन प्रोग्राम के तहत अब तक 1200 से अधिक छात्र ट्यूशन फीस, आवास के लिए 100 प्रतिशत तक की छात्रवृति हासिल करते हुए यूएसए, कनाडा और ऑस्टेलिया जैसे देशों में अध्ययन करने जा चुके हैं। उन्होंने बताया कि आईएलईटीएस, जीमेट, स्कॉलरशिप टेस्ट के साथ-साथ वीज़ा के इंटरव्यू, आवेदन तथा डॉक्युमेंट्स आदि के लिए छात्रों को यूनिवर्सिटी में एक ही छत के नीचे तैयारी करवाई जाती है। इसके अतिरिक्त डॉ. बावा ने कहा कि चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी देश में सबसे कम समय में नैक + ग्रेड हासिल करते हुए देश के टॉप 24 विश्वविद्यालयों में देश में शामिल है तथा ब्रिटेन स्थित क्वाक्वैरली साइमंड्स (1यूएस) की उच्च शिक्षा रेटिंग संस्था 1यूएस आईगेज रैंकिंग में इनोवेशन के क्षेत्र में डायमंड हासिल कर देशभर में पहले स्थान पर रही है। देशभर के प्रतिभाशाली छात्रों को प्रोत्साहित करने के लिए चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी की 33 करोड़ रुपए की सीयूसीईटी-2021स्कॉलरशिप योजना के तहत 133 अंडर ग्रेजुएट और पोस्ट ग्रेजुएट कोर्सों के लिए 100 प्रतिशत तक की स्कॉलरशिप प्रदान की जा रही है। उन्होंने बताया कि इस परीक्षा के लिए देशभर के विद्यार्थी https://cucet.cuchd.in/ की वेबसाइट पर आवेदन कर सकते हैं। रेजिस्ट्रेशन पोर्टल का विमोचन करते हुए डा. बावा ने बताया कि अब तक तकरीबन 63000 विद्यार्थी इस स्कॉलरशिप का लाभ ले चुके हैं तथा इंजीनियरिंग, एमबीए, लॉ, फार्मेसी और एग्रीकल्चर कोर्सों में दाखिला लेने वाले विद्यार्थियों के लिए यह परीक्षा देना अनिवार्य होगा।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।