मां तुझे सलाम कार्यक्रम में मां पर आधारित गीतों की सुंदर प्रस्तुति से हुई श्रोताओं की आंखें नम
February 28th, 2021 | Post by :- | 384 Views

कालका (रोहित शर्मा) । मां का दुनिया में एक अलग मुकाम है जिसके दूध का कर्ज़ ताउम्र चुकाना नामुमकिन है ।इसी पर आधारित एक संगीतमय कार्यक्रम शहर की अग्रणी सांस्कृतिक संस्था एस एल म्यूजिक एकेडमी द्वारा माता लाजवंती की 24 वीं पुण्यतिथि पर आयोजित किया गया, जिसमें अकैडमी में संगीत सीख रहे विद्यार्थियों ने मां पर आधारित गीत प्रस्तुत किए। कार्यक्रम की अध्यक्षता , कांग्रेस छात्र इकाई (NSUI )आरटीआई सेल के राष्ट्रीय कन्वीनर राष्ट्रीय कन्वीनर दीपांशु बंसल ने की। मुख्य अतिथि ने कार्यक्रम का आगाज़ पारंपरिक दीप जलाकर किया।

कार्यक्रम में गायक गायिकाओं ने मां पर आधारित गीतों की बेहतरीन प्रस्तुति दी जिससे श्रोताओं की भरपूर सराहना मिली।कार्यक्रम की शुरुआत नन्ही कलाकारा अनुषा ने “वक्रतुंड महाकाय “मंत्रोच्चारण से की। इसके पश्चात नावण्या ने “मुझे माफ करना ओम साईं राम” गीत गाया ।अनिल ने “तेरी उंगली पकड़ के चला”धर्मचंद ने जनम जनम तू ही मेरे पास मा गया इसके पश्चात हर्ष ने पंजाबी गीत बड़ा चीर हो तनु अल्लाह कौन है रंदा गाकर माहौल रंगीन बना दिया इसी कड़ी को आगे बढ़ाते हुए नेहा ने मां तो मां खून दी है प्रस्तुत किया पात्रता हार्दिक ब्रदर्स ने सब कुछ मिल जाता है मगर मां नहीं मिलती गाकर श्रोताओं की आंखें नम कर दी दीक्षा ने “मां तेरा एहसान है मुझ पर” गीत प्रस्तुत कर श्रोताओं को भावुक कर दिया ।नवीन ने” कौन इतना प्यार” गीत गाया। तेजस्वी ने “ऐ मां तुझे सलाम” गीत प्रस्तुत कर सुर और ताल पर अपनी पकड़ बनाते हुए कार्यक्रम को अंजाम तक पहुंचाया। हारमोनियम पर अनूप मैसी तथा तबले पर कृष्ण ने अपनी उंगलियोंका जादू दिखाया ।अपने संबोधन में दिपांशु ने विद्यार्थियों की प्रस्तुति की भूरी भूरी प्रशंसा की तथा एसएल म्यूजिक एकेडमी द्वारा संगीत के क्षेत्र में किए जा रहे प्रयासों को सराहा और कहा कि अकैडमी की उन्नति के लिए हर सम्भव पर्यास किये जायेंगे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।