नगर निगम की 50 से ज्यादा कालोनियां मूलभूत सुविधाओं से वंचित : विजय बंसल
September 19th, 2019 | Post by :- | 125 Views

कालका, (हरपाल सिंह) ।  भाजपा सरकार ने प्रदेश की 535 अनियमित कालोनियों को हरियाणा मैनेजमेंट ऑफ सिविक अमेंटीस व इंफ्रास्ट्रक्चर म्युनिसिपल एरियाज (विशेष प्रावधान) एक्ट 2016 के तहत नियमित करने का फैसला लिया जिसमे कालोनीवासियों को सभी पर्याप्त सुविधाए मुहैया करवाई गई परन्तु इस बीच नगर निगम पंचकूला भेदभाव का शिकार रहा और केवल मात्र 6 कालोनियां ही नियमित हो सकी।इस सबके बीच हल्का कालकावासियो को सरकारी अधिकारियो और भू माफिया की सरकार को चुना लगाने वाली जुगलबंदी की वजह से नुक्सान सहना पड़ा रहा है।हरियाणा किसान कांग्रेस के वरिष्ठ उपाध्यक्ष व पूर्व चेयरमैन विजय बंसल ने कहा कि राजनीतिक उदासहीनता व कमजोर नुमाइंदगी की वजह से कालका-पिंजोर भेदभाव का शिकार रहा है।कालका-पिंजोर में लगभग 50 से ज्यादा कालोनियां अनियमित है व बढ़ती आबादी के लोग इन्ही कालोनियों में अपना आईशियाना बनाकर रह रहे है परन्तु मूलभूत सुविधाओं से वंचित है।विजय बंसल ने जहा आश्वस्त किया है कि यदि सेवा का मौका मिला तो सभी अनियमित कालोनियों को नियमित करवाया जाएगा। शहरी स्थानीय निकाय के निदेशालय ने आयुक्त नगर निगम को 10 जनवरी 2017 को पत्र लिखकर सूचित किया था कि आप द्वारा प्रस्तावित 24 कालोनियों में से केवल 6 कालोनियां (राधा कृष्ण कालोनी,लोहगढ़ गांव,मानकपुर नानक चंद,कृष्णा एनक्लेव,ईशर नगर,इस्लाम नगर-1)ही सिविक अमेंटीस व इंफ्रास्ट्रक्चर म्युनिसिपल एरियाज के तहत सक्षम पाई गई है जबकि विजय बंसल ने कहा कि जो 18 प्रमुख कालोनियां(सुखोंमाजरी,सुभाष नगर,सूरजपुर,टिपरा कालोनी-ए,बी,सी,,सीयूडी कालोनी,मानकपुर ठाकुर दास,मानकपुर देवीलाल गांव,खेड़ा गांव,कंगूवाला गांव,खड़ा पत्थर वासुदेवपुरा,ग्रीन वेली कालोनी पार्ट सी,बीटना गांव,भोगपुर गांव,बसोला गांव,धमाला गांव व आँचल विहार) अनियमित साबित करी गई है उसमें जनता का कोई दोष नही है अपितु वह प्रशासन व निगम की त्रुटियां व लापरवाही है जिसका खामियाजा जनता न भुगतें। निदेशालय द्वारा जो कालोनियां नियमित करने के लिए असक्षम पाई गई उनमें सभी कारण व खामियां प्रशासन व सरकार द्वारा आसानी से पूरी करी जा सकती थी परन्तु सरकार के भेदभावपूर्ण रवैए व भाजपा के कमजोर नुमाइंदगी की वजह से कालका-पिंजोर एक बार फिर भेदभाव का शिकार हुआ और यहां की जनता पुनः मूलभूत सुविधाओं से वंचित रह गई।विजय बन्सल ने बताया कि सिविक अमेंटीस व इंफ्रास्ट्रक्चर म्युनिसिपल एरियाज के तहत गुरुग्राम की 32 कालोनियों,फरीदाबाद की 9,करनाल की 23,पानीपत की 29 कालोनियों को शार्टलिस्ट किया गया जबकि कालका-पिंजोर(पंचकूला) की केवल 6 कालोनियों को ही शार्ट लिस्ट किया गया। इसके साथ ही बंसल ने बताया कि नगर निगम पंचकुला की नियमित हुई 6 में से कुछ कालोनियां उन प्रभावशाली लोगो की है जहां आबादी ही नही है और जो कालोनियां अनियमित रह गई वहां पहले से आबादी है।सरकार व प्रशासन की मिलीभगत से कालका-पिंजोर के लाखों लोगों को नुकसान हो रहा है।  विजय बंसल ने मनोहर लाल,मुख्यमंत्री हरियाणा सरकार से मांग करी है कि शीघ्र प्रभाव से नगर निगम पंचकूला की सभी कालोनियों को नियमित किया जाए क्योंकि यह शिवालिक क्षेत्र है व तमाम नियमो से भी छूट है।यदि सरकार द्वारा सभी कालोनियों को नियमित नही किया गया तो बड़ा आंदोलन खड़ा किया जाएगा। विजय बंसल ने कहा कि वैसे तो हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने नगर निगम गुरुग्राम की 32 ,फरीदाबाद की 9, करनाल की 35 , पानीपत की 78,हिसार की 14,अम्बाला की 25 , रोहतक की 99 ,यमुनानगर की 42,सोनीपत की 7 कालोनियों समेत सूबे की 535 कालोनियों को नियमित करने के आदेश जारी किए पंरतु, भाजपा के नेताओ द्वारा प्रदेश की कथित राजधानी कहे जाने वाले क्षेत्र व चंडीगढ़ से सटीक नगर निगम पंचकूला में केवल व केवल 6 कालोनियों को नियमित करने के आदेश जारी किए जबकि नगर निगम पंचकूला के दोनों विधायक,सांसद,जिला परिषद चेयरमेन भाजपा से है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।