खट्टर सरकार का 75 प्रतिशत रोजगार देने का वादा भी झूठा निकला : अरुण खत्री
February 23rd, 2021 | Post by :- | 113 Views

बहादुरगढ़ लोकहित एक्सप्रेस ब्यूरो चीफ (गौरव शर्मा)

*अरुण खत्री बोले, भाजपा जजपा का 5100 रुपए पेंशन देने का वादा भी चुनावी जुमला साबित हुआ

*अरुण खत्री बोले, कृषि विरोधी तीनों काले कानून रद्द करें मोदी सरकार

*हुड्डा सरकार में मिलती थी हरियाणा प्रदेश के युवाओं को सरकारी नौकरी

बहादुरगढ़। हरियाणा की भाजपा-जजपा गठबंधन सरकार का प्रदेश के युवाओं को रोजगार देने का नारा पूरी तरह से झूठा साबित हो रहा है। हरियाणा सरकार में एसडीओ पद के लिए हुई 99 भर्तियों में 77 दूसरे प्रदेश के लोगों को नौकरी प्रदान की गई है जबकि हरियाणा के मात्र 22 युवाओं को ही नौकरी मिली है। सरकारी पदों पर निकलने वाली भर्तियों में हरियाणा के युवाओं की बजाए दूसरे प्रदेशों के लोगों का चयन किया जा रहा है जोकि सरासर गलत है। यह बात कांग्रेस नेता अरुण खत्री ने लाइनपार में पत्रकारों से बातचीत करते हुए कही।

अरुण खत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर व जजपा से उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला हरियाणा के युवाओं को नौकरियों में 75 प्रतिशत आरक्षण के तहत नौकरी देने का झूठा ढिंढोरा पूरे प्रदेश में पीट रहे हैं जबकि हकीकत में प्रदेश में निकलने वाली भर्तियों में हरियाणा के युवाओं की उपेक्षा करके दूसरे प्रदेशों के लोगों को सरकारी नौकरियां प्रदान करने का काम किया जा रहा है। अरुण खत्री ने कहा कि इसी तरह बीजेपी व जेजेपी ने अपने चुनावी घोषणा पत्र में बुजुर्गों को 5100 रुपये प्रतिमाह पेंशन देने का वादा किया था वह भी पूरी तरह से चुनावी जुमला साबित हुआ। उन्होंने बताया कि प्रदेश के बुजुर्गों को मात्र 2250 रुपये पेंशन दी जा रही है।

कांग्रेस नेता अरुण खत्री ने कहा कि हरियाणा में कांग्रेस के राज में मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा द्वारा हरियाणा के युवाओं को ही सरकारी नौकरियां दी जाती थी जबकि खट्टर सरकार के राज में हरियाणा की बजाय बाहर के लोगों को सरकारी नौकरियां प्रदान की जा रही है जो कि हरियाणा प्रदेश के युवाओं के साथ सरकार का धोखा है।

अरुण खत्री ने कहा कि हरियाणा की भाजपा -जजपा सरकार की कथनी और करनी में भारी अंतर है । जो वादे बीजेपी व जेजेपी ने विधानसभा चुनाव में प्रदेश के युवाओं से किए थे उन वादों को भूलकर आज हरियाणा की सत्ताधारी भाजपा -जजपा सरकार प्रदेश के युवाओं को रोजगार देने के मामले में उनके हितों से खिलवाड़ करके उन्हें बेरोजगार करने का काम कर रही है जिसे भविष्य में हरियाणा का युवा अपनी वोट की ताकत से करारा जवाब देगा। अरुण खत्री ने कहा की केंद्र की मोदी सरकार तीन कृषि काले कानून रद्द करने की बजाय तरह-तरह के हथकंडे अपनाकर पिछले लगभग 3 महीने से चल रहे किसान आंदोलन को तोड़ने व बदनाम करने का कुप्रयास कर रही है मगर वह इसमें कामयाब नहीं होगी।अरुण खत्री ने कहा कि तीन कृषि कानून को रद्द करवाने को लेकर आंदोलन कर रहे लाखों किसानों की मांग जायज है इसलिए मोदी सरकार को राज हठ छोड़कर तुरंत प्रभाव से तीनों काले कृषि कानून रद्द कर देने चाहिए। इस अवसर पर उमेद सिंह खत्री, जगदीश फौजी, दयानंद फौजी, सतबीर राणा, रामफल खत्री, राजीव छिल्लर, नवीन खत्री, सचिन छिल्लर, प्रमोद केबल वाला, अनिल व संजय आदि मौजूद रहे।
फोटो कैप्शन :- लाइनपार में पत्रकारों से बातचीत करते हुए कांग्रेसी नेता अरुण खत्री।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।