स्वामी मेहर सिंह जी महाराज तपस्थली कुटिया में रविवार को भण्डारा सम्पन्न
February 23rd, 2021 | Post by :- | 81 Views

गजसिहपुर,(यश कुमार) । ओम वाहेगुरू स्मरण ब्रह्मालीन विरक्त शिरोमणि श्री 108 स्वामी मेहर सिंह जी महाराज तपस्थली कुटिया मे रविवार को भण्डारा बडी धूमधाम से मनाया गया कुटिया के सेवादार हरनाम दास कोचर ने बताया कि सोशल डिस्ट्रेसिंग की पालना करते हुए रविवार को कुटिया मे गुरु ग्रंथ साहिब ,सुखमनी साहब का पाठ करवाया गया सुबह ही कस्बे व आसपास के गाँवो से लोग कुटिया मे पहुँचे व गुरूग्रंथ  साहब के आगे नतमस्तक होकर अपनो व क्षेत्र लिए सुख शांति के लिए अरदास की कुटिया के इतिहास के बारे मे बताया गया कि इस कुटिया मे सन 1952 मे स्वामी मेहर सिंह जी महाराज यहां आये स्वामी मेहर सिंह जी संतो को शिक्षा देते थे आज भी इस कुटिया मे पांच संत विराजमान है ।

इस कुटिया में रुपए के नाम पर चंदा बिल्कुल भी नहीं लिया जाता यदि कोई चंदा दे देता है तो हमारी एक छोटी कमेटी बनी हुई है जो इसका संचालन करती है कुटिया के संत भगवान दास ने बताया कि यह जो भी संत आते हैं उनको पैसे का मोह माया बिल्कुल नहीं होता संत दो तरह के होते हैं एक महंत और दूसरे व्रत जो महंत संत होते हैं वह आश्रम चलाते हैं और जो व्रत संत होते हैं वह भ्रमण करते हैं यह व्रत संतो की कुटिया है यहा पर बनी कमेटी संगत चलाती है स्वामी मेहर सिंह जी महाराज 6 वी पातशाही गद्दी से है हर वर्ष इस कुटिया में बड़ी धूमधाम से भंडारा मनाया जाता है कुटिया मे गुरु का लंगर अटूट बताया गया इस लंगर की सेवा में कृपाल सिंह डंग,भीम सिंह मित्तल, संतोख सिंह डंग, राम बजाज,पुरुषोत्तम लाल व हरनाम दास कोचर का विशेष सहयोग रहा ।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।