गौ सेवा आयोग के उपाध्यक्ष ने जानी गौ सेवा सदन संचालकों की दिक्कतें।
September 19th, 2019 | Post by :- | 79 Views

मंडी,(मोहन शर्मा):- प्रदेश गौ सेवा आयोग केउपाध्यक्ष अशोक शर्मा ने बुधवार को मंडी में गौशालाओं व गौ सेवा सदन संचालकों, पंचायत प्रतिनिधियों और पशुपालन विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक की। इस दौरान गौशालाओं एवं गौ सेवा सदन के संचालन से जुड़े मुद्दों, संचालन में आ रही समस्याओं और उनके समाधान को लेकर विस्तार से चर्चा की गई ।
अशोक शर्मा ने कहा कि प्रदेश में गौ वंश को बचाने, सड़कों पर घूम रही बेसहारा गायों को आसरा देने और नस्ल सुधार के उद्देश्य से गौ सेवा आयोग सभी जिलों में बैठकें आयोजित कर रहा है।
आयोग का प्रयास है कि गौशालाओं व गौ सेवा सदन संचालकों एवं पंचायत प्रतिनिधियों से चर्चा कर उनकी समस्याएं जानीं जाएं और आयोग की ओर से उनकी मदद के लिए क्या क्या किया जा सकता है, इस बारे जमीनी जानकारी इकट््ठा की जाए, ताकि सड़कों पर घूम रही बेसहारा गायों के पुनर्वास के लिए कारगर नीति बनाई जा सके।
उन्होंने कहा कि आयोग प्रदेश में गौ संरक्षण और संवर्धन के लिए कार्य कर रहा है। शराब की खरीद पर प्रति बोतल एक रुपए गौ सेस के तौर पर इकट्ठा किया जा रहा है और वर्ष 2017-18 में 7.95 करोड़ की राशि एकत्रित की जा चुकी है।
मंडी जिला में माता मुरारी देवी के पास 300 बीघा भूमि पर गौ अभयारण्य बनाया जा रहा है ।
उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार देसी गायों के प्रचलन को बढ़ावा देने के लिए प्रदेश में एक नया सिमन बैंक स्थापित करेगी। इसके लिए पशु पालन विभाग प्रारूप तैयार कर रहा है। प्रज्जनन के दौरान 90 प्रतिशत बछड़ियों का जन्म हो, इस दिशा में कार्य किए जा रहे हैं। ऐसा होने से गायों की मांग बढ़ेगी और उन्हें सड़कों पर लावारिस नहीं छोड़ा जाएगा।
इस अवसर पर गौ सेवा आयोग के सदस्य महन्त अभिषेक गिरी, चेत राम ठाकुर, आयोग के उपनिदेशक डॉ. अनुपम मित्तल, उप निदेशक पशु पालन विभाग मंडी डॉ. विशाल शर्मा और विभिन्न ग्राम पंचायत के प्रतिनिधियों सहित अन्य लोग उपस्थित थे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।