कैथल में आरकेएसडी के चुनाव को लेकर स्टेट सोसाईटीज रजिस्ट्रार कार्यालय में याचिका,याचिकाकर्ता संजय गर्ग ने लगाए आरोप
February 19th, 2021 | Post by :- | 114 Views

कैथल (लोकहित एक्सप्रेस ब्यूरो चीफ विशाल चौधरी ) आरकेएसडी कॉलेज के कॉलेजियम चुनाव के बाद आगामी 2 मार्च को होने वाले आर.वी.एस. के चुनाव से पहले हरियाणा राज्य सोसाइटीज रजिस्ट्रार के कार्यालय में एक याचिका दायर की गई है। जिसे विभाग ने सुनवाई के लिए स्वीकार कर लिया है। इस याचिका पर आगामी 25 फरवरी को सुनवाई होगी। याचिककत्र्ता संजय कुमार गर्ग ने अपने अधिवक्ता संजीव कुमार गुप्ता व अजय कुमार गर्ग के माध्यम से दायर की याचिका में आरोप लगाया कि आर.के.एस.डी. कॉलेज के जनवरी माह में हुए 21 कॉलेजियम के चुनाव से पहले नियमों का पालन नहीं किया गया। इससे पूर्व की आरवीएस कमेटी द्वारा मृत वोटरों का नाम वोटर लिस्ट से हटाया जाना था। लेकिन ऐसा नहीं किया गया। वर्ष 2018 में गठित आर.वी.एस. की बैठक में भी इस नियमों का पालन नहीं किया गया। इसके साथ-साथ आर.वी.एस. की दो तिहाई बहुमत के हिसाब से बुलाई जाने वाली बैठक के नियम का भी पालन नहीं किया गया। याचिका में आरोप लगाया गया कि 26 जुलाई 2015 को एक प्रस्ताव पास करा दिखाया गया जिसमें 233 वोट कुल 3714 वोटों से हटाने बाबत लिखा गया जबकि उससे अगले दिन ही उसी प्रस्ताव का हवाला देते हुए फिर से 3714 वोटों की लिस्ट अपूर्व करने के लिए जिला रजिस्ट्रार के सामने पेश कर दी। उसी प्रस्ताव में पहले वाला संविधान की सारी धाराएं नाजायज तौर पर खत्म कर दी और अपनी मनमर्जी से नया संविधान बना दिया जिसमें सोसाइटी एक्ट 2012 के कानून की पूरी तरह उल्लंधना की गई है। याचिका में इस तरह के अनेकों प्वाईंटस पर सवाल उठाते हुए मांग की गई है कि जब तक इस याचिका का निपटारा नहीं हो जाता, तब तक एक एडहॉक कमेटी का गठन किया जाए। ताकि वर्तमान याचिका का निपटारा होने तक सभी नियमों का पालन किया जाए।
विदित रहे कि गत 10 जनवरी को हुए आरकेएसडी कॉलेज के चुनाव में साकेत मंगल एडवोकेट की अगुवाई में एक कॉलेजियम को छोडकर शेष में उनके ग्रुप के सदस्यों ने जीत हासिल की। वहीं विरोधी गुट में केवल विष्णु भगवान मित्तल ने चुनाव जीता था। इसके बाद 2 मार्च को आर.के.एस.डी. की मातृ संस्था आर.वी.एस. का चुनाव निर्धारित है। जिसमें प्रधान सहित अन्य पदाधिकारियों का चुनाव होना है। अब याचिका दायर होने पर इस चुनाव को लेकर भी संशय बन गया है। याचिका में की गई मांग अनुसार यदि 25 फवरी को रजिस्ट्रार की ओर से एडहॉक कमेटी बना दी गई तो 2 मार्च का चुनाव भी खटाई में पड़ सकता है। अक देखना होगा कि 25 फरवरी को होने वाली सुनवाई में रजिस्ट्रार क्या फैसला लेते हैं।
इस संबंध में जिला फर्म एवं सोसाइटी कार्यालय के इंडस्ट्रियल एक्सटेंशन ऑफिसर नितेश ने कहा कि उनके पास इस याचिका के संबंध में सूचना आई है। नियमानुसार ही कार्रवाई की जाएगी।
बॉक्स
इन को बनाया गया है पार्टी-याचिका में संजय गर्ग ने राष्ट्रीय विद्या समिति, कैथल व ङ्क्षप्रसिपल आर.के.एस.डी. कॉलेज को पार्टी बनाया गया है। इसके अलावा श्याम बंसल, सुनील कुमार, पंकज बंसल, नरेश कुमार, साकेत मंगल एडवोकेट, अश्वनी शोरेवाला ने इस केस में खुद की सुनवाई के लिए बतौर केविएटर याचिका दायर की थी। इन्होंने अधिवक्ता विनय वर्मा के माध्यम से याचिका दायर की है।
बॉक्स
इस संबंध में आरकेएसडी कॉलेज के प्रिंसिपल प्रो. संजय गोयल ने कहा कि वे अभी कैथल से बाहर हैं। दो दिन बाद कैथल आएंगे। यदि कोई कागज कार्यालय में पहुंचा होगा तो उसे देखकर ही कुछ बताया जा सकता है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।