राष्ट्रव्यापी रेल रोको आंदोलन के तहत आज 12 बजे से 4 बजे तक रेलों का चक्का किया जाम।
February 18th, 2021 | Post by :- | 160 Views

राष्ट्रव्यापी रेल रोको आंदोलन के तहत आज 12 बजे से 4 बजे तक रेलों का चक्का किया जाम, जंडियाला गुरु मर रेल रोको आंदोलन 148 वें दिन में हुआ दाखिल ।
जंडियाला गुरु कुलजीत सिंह
किसान मज़दूर सँघर्ष कमेटी पंजाब की अध्यक्षता में राष्ट्रव्यापी रेल रोको आंदोलन के बुलावे पर 12 से 4 बजे तक राज्य कार्यलय सचिव गुरबचन सिंह चब्बा ,जिला सचिव जर्मनजीत सिंह बंडाला ,सकत्तर सिंह कोटला ,रणजीत सिंह कलेरबाला और बाज़ सिंह सारँगड़ा की अध्यक्षता 4 घन्टे रेलों का चक्का जाम किया गया ।केंद्र की मोदी सरकार के खिलाफ रोष प्रदर्शन करते हुए जंडियाला गुरु गहरी मंडी में रेल चक्का जाम किया गया ।इसमें हज़ारों की गिनती में किसानों ,मज़दूरों ,औरतों और नौजवानों ने शामिल होकर केंद्र की मोदी सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए तीन काले कानून रद्द करने ,बिजली सोध बिल 2020 ,पराली बिल 2020 रद्द करने ,फसलो की खरीद गरंटी वाला एम एस पी वाला कानून लाने ,दिल्ली में ग्रिफ्तार किये किसान और नौजवान बिना शर्त रिहा किए जाएं ,भाजपा नेता अमन झब्बास और प्रदीप खत्री पर मामला दर्ज करने ,नौदीप कौर को बिना शर्त रिहा करना, चुनाव के दौरान किये गए वायदों के अनुसार कर्ज़ माफ करना ,और घर घर नौकरी देने की मांग की गई ।जंडियाला गुरु में रेल रोको आंदोलन आज 148 वें दिन में दाखिल हो गया
जो काले कानूनों के।रद्द होने तक जारी रहेगा ।किसान नेताओं ने कहा कि दिल्ली में चल रहे मोर्चे में शामिल होने के लिए 20 फरवरी को गुरदासपुर ,हुशियारपुर जिले से हज़ारों किसानों मज़दूरो का जत्था रवाना होगा और केंद्र के खिलाफ संघर्ष को और तेज़ किया जाएगा ।इस मौके पर नंबरदार यूनियन के प्रधान जोगिंदर सिंह ,लखविंदर सिंह बोपाराय ,गुरदयाल सिंह,कंवलजीत सिंह वंचड़ी ,चरनजीत सिंह सफीपुर ,कंवलजीत सिंह ,मुखबैन सिंह ,अमरदीप सिंह गोपी ,अजीत सिंह ठठिया,चरण सिंह कलेर ,हरबिंदर सिंह भलाईपुर ,सविंदर सिंह रूपोवाली ,गुरभेज सिंह ,झिर्मल सिंह ,मुख्तार सिंह भंगवा ,कृपाल सिंह कलेर
मांगट ,साहब सिंह ,कुलवंत सिंह कक्कड़ ,लखविंदर सिंह,राज सिंह ताजेचकक,हरभजन सिंह ,निशान सिंह चब्बा ,और मंगजीत सिंह सिधवां हाजिर थे ।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।