बसंत पंचमी महोत्सव कार्यक्रम पर माँ सरस्वती की प्रतिमा पर पुष्प अर्पित कर दीप प्रज्वलित किया गया|
February 16th, 2021 | Post by :- | 206 Views

 

पलवल (मुकेश कुमार हसनपुर) 16 फरवरी :- राजकीय माध्यमिक विद्यालय पैंगलतु मे बसंत पंचमी महोत्सव कार्यक्रम के अवसर पर माता सरस्वती की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर पुष्प अर्पित किए गए व दीप प्रज्वलित कर माता शारदे से सभी की सुख शांति व कोरोना वायरस से मुक्ति की प्रार्थना की|

कार्यक्रम की अध्यक्षता विद्यालय के प्रधानाचार्य भगवान सिंह सौरोत ने की मुख्यअतिथि अध्यापक संघ के प्रधान सुभाष पालीवाल रहे इस अवसर पर पालीवाल ने बताया कि बसंत पंचमी पर माता सरस्वती का जन्मदिन मनाया जाता है इनके जन्मदिन पर विद्यालय मे बेटी बचाओ बेटी पढाओ कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसमे प्रीति रौनक राज रजनी रोशनी अर्चना रितु आदि छात्राओ ने कविता गीत वह भाषण आदि प्रस्तुत किए|

पालीवाल ने बताया कि हमे लडका व लडकी मे कोई अंतर नही समझना चाहिए हमे दोनो को समान अवसर देने चाहिए आज सभी महत्वपूर्ण पदो पर लडकिया  विराजमान है हमे लडकियो की प्रतिभा को किसी से भी कम नही समझना चाहिए शिक्षित बेटिया दो घरो को रोशन करती है इस अवसर पर पालीवाल ने 50 छात्र छात्राओ को पुरुस्कार देकर सम्मानित किया साथ उनके उज्ज्वल भविष्य की शुभकामनाऐ दी|

पालीवाल ने तनाव रहित परीक्षा कार्यक्रम का भी आयोजन किया पालीवाल ने बताया कि हमे मनोरंजन के साथ नियमित पढ़ाई, स्वास्थ्य के प्रति सचेत रहना, संतुलित आहार, सुबह की सैर, एवम् अपनी दिनचर्या को अच्छी तरह से व्यवस्थित करने के लिए प्रयास करना चाहिए पालीवाल ने इस अवसर पर मस्ती की पाठशाला कार्यक्रम का भी आयोजन किया|

इसमे छात्रो को एक्टिंग, अभिनय के साथ कविता, कहानी, पहाडे, व हंसी के ठहाको के साथ पढ़ाई कराई पालीवाल ने जीवन मे हमेशा हंसते रहो मुस्कुराते रहो का संदेश दिया पालीवाल ने बताया कि हमे जीवन मे कभी हिम्मत नही हारनी चाहिए संघर्ष करते हुए अपने लक्ष्य को प्राप्त करने का प्रयास करते रहना चाहिए पालीवाल ने बताया कि हंसने से हमारे शरीर मे उर्जा का संचार होता है इस अवसर पर अध्यापक भगवान सिंह सौरोत, शास्त्री देवेंद्र सिंह, धर्मवीर, बिजेंद्र सिंह पीटीआई कृष्ण गोपाल लिपिक आदि ने कार्यक्रम की सराहना की व पालीवाल को माता सरस्वती की प्रतिमा स्मृति चिह्न के रूप मे भेट की|

 

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।