अंबाला में बन रहे युद्ध स्मारक के लिए 1857 की क्रांति से जुड़ी वस्तुएं दे सकते हैं आमजन,दिए जाने वाली वस्तु को व्यक्ति के नाम, पते सहित गैलरी में दर्शाया जाएगा:-डीआईपीआरओ धर्मवीर सिंह।
February 10th, 2021 | Post by :- | 58 Views

अम्बाला:(अशोक शर्मा)
1857 की क्रांति की याद में वीर जवानों की बहादुरी एवं शहादत को नमन करने के लिए अम्बाला-दिल्ली राष्ट्रीय राजमार्ग पर अम्बाला छावनी में 22 एकड़ भूमि पर लगभग 300 करोड़ रूपए की लागत से भव्य और विशाल स्मारक का निर्माण कार्य तेजी से किया जा रहा है।
जिला सूचना एवं जनसंपर्क अधिकारी धर्मवीर सिंह ने जानकारी देते हुए आमजन से अपील की है कि अगर किसी भी व्यक्ति के पास उनके पूर्वजों की धरोहर के रूप में 1857 की क्रांति से संबंधित कोई भी वस्तु जैसे राइफल, बंदूक, पिस्टल, बंदूक की गोली(मस्कट कार्टरिज), वर्दी, तलवार, चाकू, बैज, मेडल, दस्तावेज, 1857 की क्रांति पर जारी हुई पोस्टल स्टाम्प (डाक टिकट), पत्र या पत्र व्यवहार, मूल रूप में कोई समाचार पत्र, उस दौर की पेंटिंग, कोई मानचित्र या अन्य कोई भी वस्तु जो 1857 की क्रांति से सम्बन्धित हो, को हरियाणा सरकार को धरोहर के लिए दे सकते हैं। उन्होंने कहा कि अगर दी गई वस्तु, दस्तावेज या अन्य चीजें प्रामाणिक पाए जाते हैं तो उसे दिए जाने वाले व्यक्ति के नाम व पते सहित गैलरी में दर्शाया जाएगा। आमजन द्वारा दिए जाने वाले इस सहयोग के लिए सरकार आभारी रहेगी और पूरे सम्मान के साथ दी गई निधि को अंबाला में बन रहे युद्ध स्मारक में बनाई जाने वाली गैलरी में संजोकर रखा जाएगा। आमजन से अपील की जाती है कि इस संदर्भ में मोबाइल नंबर 9463437252 अथवा 9888009339 पर संपर्क किया जा सकता है।
बॉक्स:- जिला सूचना एवं जन सम्पर्क अधिकारी ने यह भी कहा कि शहीदी स्मारक की भव्यता एवं सुंदरता के लिए इस परियोजना का गृह, शहरी स्थानीय निकाय एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज समय-समय पर यहां का दौरा करते हुए परियोजना से जुड़े विषय को लेकर आवश्यक दिशा-निर्देश भी देते हैं। उनके मार्गदर्शन में जिला प्रशासन बेहतर तरीके से इस परियोजना को कर रहा है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।