लखीमपुर कुशल कार्यशैली कर्तव्यनिष्ठा के लिए सम्मानित हुए मितौली प्रभारी अनिल कुमार सैनी।
February 9th, 2021 | Post by :- | 82 Views

लखीमपर(पवन दीक्षित)।मितौली खीरी थाना प्रभारी अनिल कुमार सैनी की कार्यकुशलता एवं अपने कर्तव्यों के प्रति सत्य निष्ठा को देखते हुए प्रदेश के पुलिस महानिदेशक हितेश चंद्र अवस्थी द्वारा गणतंत्र दिवस के अवसर पर प्रदत्त सिल्वर मेडल एवं प्रशस्ति पत्र जिला अधिकारी शैलेंद्र सिंह एवं पुलिस प्रमुख विजय ढुल द्वारा गणतंत्र दिवस के अवसर पर जिला मुख्यालय पर आयोजित अपराध गोष्ठी में प्रदान किया गया थानाध्यक्ष अनिल कुमार सैनी ने थाना मितौली का चार्ज संभालते ही कस्ता पेट्रोल पंप लूट कांड का अनावरण सत्य निष्ठा एवं ईमानदारी के साथ किए जाने के बाद थाना क्षेत्र में घटित घटनाओं जैसे कानाखेड़ा में नाबालिग लड़की के साथ बलात्कार के बाद हत्या की घटना का अनावरण मात्र 12 घंटे के अंतराल में किया गया साथ ही निमचेनी गांव में ₹10000 के चक्कर में एक युवक की अज्ञात व्यक्तियों ने हत्या किए जाने के क्रम में मात्र 10 घंटे के अंदर घटना का अनावरण किया जाना साथ ही क्षेत्र के दुर्दांत अपराधियों को समय-समय पर जेल भेजा जाना क्षेत्र में शांति व्यवस्था बनाए रखने के क्रम में पैदल गस्त एवं शासनादेश के क्रम में थाना क्षेत्र में अमन चैन बनाए रखने के उद्देश्य को लेकर, स्कूल के समय मिशन एंटी रोमियो चलाकर सुरक्षा प्रदान करना, बालिकाओ की सुरक्षा व उत्साह वर्धन को लेकर विशेष प्रयास किया जाना, साथ ही पुलिस प्रमुख विजय ढुल द्वारा दिए गए निर्देशों का क्रियान्वयन सत्य निष्ठा एवं ईमानदारी के साथ किया जाना थाना क्षेत्र में मार्ग दुर्घटनाओं दुर्घटनाग्रस्त व्यक्तियों के पास से 72200 रुपए व 29 नग सोना आदि बरामद कर उनके परिजनों को सौंपा जाना, उनकी कार्यशैली का हिस्सा जनता में विशेष रूप से चर्चा का विषय बना रहा।रात्रि गश्त में कभी किसी प्रकार की कोताही न करना थाना क्षेत्र में अपराधिक दृष्टिकोण से जनपद सीतापुर के थाना इमलिया सुल्तानपुर एवं जनपद सीतापुर के महोली थाना क्षेत्र की सीमाओं से सटा हुआ क्षेत्र होने के कारण आए दिन अपराध एवं अपराधियों का जमावड़ा बना रहता था थानाध्यक्ष अनिल सैनी की कार्यशैली से अपराधों में निरंतर काफी कमी आई है।जिसके कारण जनता अमन चैन पूर्वक रात में कहीं भी आ जा सकते हैं तथा जनता अपने घरों में अपने को सुरक्षित महसूस कर रही है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।