विधायक असीम गोयल नन्यौला ने आज प्रेमनगर स्थित अपने आवास पर लोगों की शिकायतों एवं समस्याओं को सुना।
February 8th, 2021 | Post by :- | 139 Views

अम्बाला:(अशोक शर्मा)
अम्बाला शहर के विधायक असीम गोयल नन्यौला ने आज प्रेमनगर स्थित अपने आवास पर जन सुनवाई कार्यक्रम के दौरान शहर व ग्रामीण क्षेत्र से आये शिकायतों एवं समस्याओं को सुनने के उपरांत उन्होंने शिकायतकर्ताओं को आश्वस्त किया कि उनकी समस्याओं का जल्द समाधान किया जायेगा। इस मौके पर उन्होंने सम्बन्धित विभाग के अधिकारियों को लोगों की समस्याओं का प्राथमिकता के आधार पर समाधान करने के निर्देश भी दिए।
जन सुनवाई के तहत गांव काकरू से यशपाल, शंटी धीमान, इकबाल, अंजु व अन्य लोगों ने गांव में नया टयूबल का कनैक्शन चलवाने बारे, मनमोहन नगर में रविन्द्र कुमार बंसल ने जीटी रोड के पास निर्माणधीन नाले का काम पूरा करवाने बारे, गांव सौंटा में बंद पडे नाले को चलवाने बारे और उसे चौडा करने बारे विधायक से गुहार लगाई। उन्होंने लिखित शिकायत पत्र के माध्यम से विधायक को अवगत करवाया कि किन्ही तकनीकी कारणों के कारण टयूबल नहीं चल पा रहा है। विधायक ने ग्रामीणों की समस्याओं को सुनने के उपरांत सम्बन्धित अधिकारियों को मौके पर जाकर इस समस्या का तुरंत समाधान करने के निर्देश दिये। इसके अलावा शहरी व ग्रामीण क्षेत्र से आये अन्य लोगों ने गली बनवाने बारे, बिजली की समस्या बारे, पैंशन की समस्या बारे व अन्य समस्याओं बारे लिखित प्रार्थना पत्र के माध्यम से अपनी समस्याओं का निवारण करने बारे विधायक से गुहार लगाई। विधायक ने सभी लोगों को आश्वस्त किया कि उनकी समस्याओं का जल्द समाधान सुनिश्चित होगा।
विधायक ने इस मौके पर यह भी कहा कि अम्बाला शहर विधानसभा क्षेत्र में सभी को साथ लेकर समान रूप से विकास कार्यों को करवाने का काम किया गया है। आगे भी विकास कार्यों को निरंतर करवाने का काम किया जायेगा। उन्होंने इस मौके पर यह भी कहा कि लोगों की कोई भी सामुहिक समस्या शेष नहीं रहने दी जायेगी। इस मौके पर अनिल गुप्ता, गुरविन्द्र सिंह मानकपुर, श्याम सुंदर, हितेष जैन, संजीव गोयल टोनी, टिंकू सूद के साथ-साथ अन्य लोग मौजूद रहे।
  अम्बाला:(अशोक शर्मा)
:पराली प्रबंधन को लेकर मशीनरी व उपकरणों पर किसानों को सरकार द्वारा दिए जाने वाले अनुदान के बारे में आज जिला स्तरीय कार्यकारिणी की बैठक उपायुक्त अशोक कुमार शर्मा की अध्यक्षता में उनके कार्यालय में हुई। इस बैठक में जिन किसानों ने ऑनलाईन आवेदन किया था उनका कृषि विभाग द्वारा गठित कमेटी द्वारा भौतिक सत्यापन करने के उपरांत आज की बैठक में 80 प्रतिशत अनुदान राशि देने को स्वीकृति प्रदान की गई। इन्सैंटिव स्कीम जिसमें पराली प्रबंधन के लिए एक हजार रूपये प्रति एकड़ की राशि प्रोत्साहन स्वरूप दी जाती है। इस स्कीम के तहत जिन आवेदकों के दस्तावेज सही पाये गये हैं उनके भौतिक सत्यापन के बाद अब यह प्रोत्साहन राशि को देने के लिए स्वीकृति दी गई है। कृषि निदेशालय द्वारा प्रस्तावित सीआरएम स्कीम 2020-21 में कस्टम हायरिंग सैंटर में 80 प्रतिशत व व्यक्तिगत श्रेणी में 50 प्रतिशत अनुदान पर पराली प्रबंधन के लिए कृषि यंत्र दिए गये हैं। कस्टम हायरिंग सैंटर में 55 आवेदन व व्यक्तिगत श्रेणी में 239 आवेदन प्राप्त हुए थे, 238 किसानों का भौतिक सत्यापन डीएलईसी द्वारा गठित कमेटी द्वारा करने के उपरांत इसे भी स्वीकृति प्रदान की गई है। स्ट्रा बेलर पर अनुदान राशि देने को भी स्वीकृति प्रदान की गई है।
बैठक में कृषि विभाग के उप निदेशक डा0 गिरीश नागपाल, सहायक कृषि अभियंता ओम प्रकाश महिवाल, कृषि विज्ञान केन्द्र अम्बाला के सीनियर कोर्डिनेटर डा0 बलवान सिंह, एलडीएम डी.के. गुप्ता, प्रोग्रैसिव किसान गुरजंट सिंह भी मौजूद रहे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।