सरकार ने इकोनॉमी को गति देने में पूंजीगत खर्च बढ़ाने के साथ-साथ निजी क्षेत्र के योगदान को भी बढ़ावा दिया है- रतनलाल कटारिया।
February 6th, 2021 | Post by :- | 45 Views

अम्बाला:(अशोक शर्मा)
केंद्रीय जल शक्ति एवं सामाजिक न्याय व अधिकारिता राज्य मंत्री रतनलाल कटारिया ने प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से कहा कि इस बार पेश किए गए बजट में पारदर्शिता और टैक्स स्थिरता पर जोर दिया गया है, लोगों की आकांक्षाओं के विपरीत सरकार ने कोई नया टैक्स नहीं लगाया। सरकार ने इकोनॉमी को गति देने में पूंजीगत खर्च बढ़ाने के साथ-साथ निजी क्षेत्र के योगदान को भी बढ़ावा दिया है।
राज्य मंत्री रतनलाल कटारिया ने कहा इंफ्रास्ट्रक्चर ग्रोथ को गति देने के लिए इस बार के बजट में घोषित विकास वित्त संस्थान (डीएफआई) के जरिए 111 करोड़ रुपए का फंड इक_ा किया जाएगा, शुरुआत में सरकार इसमें 20,000 करोड़ रुपए लगाएगी इसमें फिर निजी क्षेत्र को शामिल किया जाएगा, इस रास्ते देश में बिजली सडक़ बंदरगाह व हवाई अड्डों के निर्माण को नई गति मिलेगी इसकी बदौलत भारत 2025 तक 5 लाख करोड़ डॉलर की इकोनामी बन पाएगा।
राज्य मंत्री ने कहा कि सरकार ने एफडीआई के जरिए रक्षा क्षेत्र में तेज विकास का रास्ता तैयार किया है, रक्षा क्षेत्र में एफडीआई का दायरा 49 प्रतिशत से बढ़ाकर 74 प्रतिशत कर दिया गया है। रक्षा क्षेत्र में एफडीआई विस्तार को गेमचेंजर बताते हुए राज्यमंत्री ने कहा कि इसमें अब निवेश की गति तेज होने वाली है, रक्षा उत्पादन बढऩे से सामरिक दृष्टिकोण से महत्वपूर्ण इस क्षेत्र में भारत सशक्त बनकर उभरेगा ।
गांव कलरेहड़ी निवासी गुरपाल सिंह पुत्र बनारसी दास तीन दिसम्बर 2020 को घर से बिना बताए कहीं चला गया है। जोकि अब तक वापिस घर नहीं पहुंचा हैं। परिजनों ने इस सम्बन्ध में गुरपाल सिंह की थाना पंजोखरा में गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करवाई है। थाना पंजोखरा में कार्यरत एवं मामले की जांच कर रहे मुख्य सिपाही अनिल कुमार ने बताया कि गुरपाल सिंह की आयु लगभग 65 वर्ष, कद 5 फुट 10 ईंच, रंग गेहूंआ, लम्बूतरा चेहरा, मुंह पर बाएं तरफ तिल का निशान तथा उसने सफेद रंग का कुत्र्ता पजामा व सिर नीले रंग का साफा तथा पैरे में कपड़े की बूट व आसमानी रंग की जुराब पहनी हुई है। इस सम्बन्ध में यदि कोई भी जानकारी मिलती है तो पुलिस कन्ट्रोल रूम नम्बर 0171-2550161, थाना प्रबन्धक के मोबाईल नम्बर 9729990131, जांच अधिकारी अनिल कुमार के मोबाईल नम्बर 8708473278 पर इसकी सूचना दी जा सकती है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।