द्रोणाचार्य स्टेडियम के साथ खाली पड़ी जमीन पर 35 करोड़ की लागत से बनेंगा साईक्लिंग वैलोड्रम:सुधा
February 3rd, 2021 | Post by :- | 93 Views
कुरुक्षेत्र, ( सुरेशपाल सिंहमार )    ।   थानेसर विधायक सुभाष सुधा ने कहा कि द्रोणाचार्य स्टेडियम के साथ खाली पड़ी जमीन पर 35 करोड़ रुपए की लागत से साईक्लिंग वैलोड्रम का निर्माण किया जाएगा। इस साईक्लिंग वैलोड्रम में अंतर्राष्टï्रीय स्तर की सुविधाएं उपलब्ध करवाई जाएंगी और इस स्टेडियम का निर्माण करने के लिए जर्मनी जैसे देशों की भी सहायता ली जाएगी। इस प्रोजैक्ट के लिए राज्य सरकार ने हरी झंडी दे दी है।
विधायक सुभाष सुधा बुधवार को सैक्टर 7 आवास कार्यालय पर शहर में चल रहे और भावी प्रोजैक्टों को लेकर विभिन्न विभागों की एक संयुक्त बैठक को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि थानेसर हल्का को खेल हब के रुप में भी विकसित किया जा रहा है। इस हल्के में अभी हाल में ही राज्य सरकार ने तकरीबन 7 करोड़ रुपए खर्च करके द्रोणाचार्य स्टेडियम में सिंथेटिक ट्रैक का निर्माण किया है और स्टेडियम के कार्यालय का भी नवीनीकरण किया गया है। इसके साथ ही कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय में हॉकी एस्ट्रोटर्फ और इंडोर स्टेडियम के लिए 10 करोड़ रुपए की राशि मुहैया करवाई है। अब मुख्यमंत्री मनोहर लाल के विशेष प्रयासों से द्रोणाचार्य स्टेडियम के साथ लगती खाली जमीन पर अंतर्राष्टï्रीय स्तर का साईक्लिंग वैलोड्रम का निर्माण किया जाएगा। इस प्रस्ताव पर सरकार ने अपनी मोहर लगा दी है और इस प्रोजैक्ट के लिए 35 करोड़ रुपए का अस्टीमेट तैयार किया है। इस प्रोजैक्ट को अमलीजामा पहनाने के लिए जर्मनी की कम्पनियों से भी सम्पर्क किया जा रहा है। इस प्रोजैक्ट के पूरा होने पर कुरुक्षेत्र में अंतर्राष्टï्रीय स्तर के साईक्लिंग खिलाड़ी तैयार हो सकेंगे। यह खिलाड़ी पूरे विश्व में कुरुक्षेत्र और हरियाणा का नाम रोशन करेंगे।
विधायक ने कहा कि कुरुक्षेत्र के सभी सैक्टरों में प्रवेश द्वारों पर महाभारत थीम पर आधारित भव्य द्वार तैयार किए जाएंगे। इस शहर में सैक्टरों के साथ-साथ अन्य जगहों पर 40 प्रवेश द्वार बनाने का प्रपोजल तैयार किया गया है। इन प्रवेश द्वारों का निर्माण करवाने में शहर की संस्थाओं का योगदान भी लिया जाएगा, जो भी संस्था अपने नाम से द्वार बनाना चाहती है, वह नगर परिषद के कार्यकारी अधिकारी को अपना सहमति पत्र दे सकती है। एक प्रवेश द्वार पर तकरीबन 15 लाख रुपए खर्च होगा और इसका डिजाईन नगर परिषद के अधिकारियों द्वारा तैयार किया जाएगा। इसके साथ ही नए बस स्टैंड की मुख्य द्वार और भवन पर भी महाभारत थीम की लुक दी जाएगी। इसका डिजाईन और अनुमानित लागत लोक निर्माण विभाग की तरफ से तैयार कर ली गई है। इस मौके पर नगर परिषद के ईओ रविन्द्र सिंह कुहाड़, लोक निर्माण विभाग के एक्सईन अरुण भाटिया, भाजपा के युवा नेता साहिल सुधा सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे।
ग्रामीण क्षेत्र की अनेकों सडक़ों पर करोड़ों रुपए लगाकर किया जाएगा निर्माण
विधायक सुभाष सुधा ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्र की अनेकों सडक़ों का विस्तारीकरण और नवीनीकरण किया जाएगा। इसके लिए ग्रामीण क्षेत्र की सडक़ों की अनुमानित लागत का एक प्रस्ताव राज्य सरकार के पास भेज दिया गया है। इस प्रस्ताव पर अनुमति मिलते ही सडक़ों का निर्माण कार्य शुरु कर दिया जाएगा। इन सडक़ों में गांव ज्योतिसर की सडक़ को फौर लेनिंग किया जाएगा और इस पर 3 करोड़ 85 लाख रुपए की राशि खर्च होने का अनुमान लगाया गया है। इसी तरह शहर से नरकतारी रोड़ पर 3 करोड़ 6 लाख, पिहोवा रोड़ से रावगढ 12 लाख रुपए, जीटी रोड़ से खेड़ी मारकंडा 1 करोड़ 40 लाख, हथीरा किरमच रायसन की डीपीआर तैयार की गई है। उन्होंने कहा कि कुरुक्षेत्र से खासपुर सडक़ पर 64 लाख, अमीन से बीड़ अमीन 98 लाख, सिरसला से हरियापुर 65 लाख, सिरसला से शादीपुर 68 लाख, सलारपुर से सुनहेड़ी खालसा पर 50 लाख, दयालपुर से कैंथला 85 लाख, सुदंरपुर कलां से पलवल 1 करोड़ 10 लाख, मुंडा खेड़ा से बलाही 11 लाख, कनीपला से डेरा बाजीगर 32 लाख, ब्रहमसरोवर म्युजियम रोड़ के नव निर्माण का भी प्रस्ताव भेजा है।
कुरुक्षेत्र ढांड रोड़ को चौड़ा करने पर खर्च किया जाएगा 8 करोड़ 50 लाख
विधायक सुभाष सुधा ने कहा कि काफी समय से कुरुक्षेत्र ढांड रोड़ को कुरुक्षेत्र सीमा तक चौड़ा करने का कार्य काफी समय से रुका हुआ था। अब इस सडक़ के निर्माण कार्य का टेंडर करतार सिंह की कम्पनी को सौंप दिया गया है। इस सडक़ को 7 मीटर से 10 मीटर तक चौड़ा किया जाएगा और सडक़ का नव निर्माण भी किया जाएगा।
सैक्टर 2 और 3 पर भी जीटी रोड़ पुल से उतरेगा वन-वे रैम्प
विधायक ने कहा कि जीटी रोड़ एनएच-44 से सैक्टर 2 और 3 पर जिंदल चौंक की तरफ वन वे रैम्प उतारने का प्रस्ताव सरकार के पास विचाराधीन है। इस प्रोजैक्ट पर सरकार ने लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों से फीजिबिलिटी रिपोर्ट मांगी है। इसके साथ ही लघु सचिवालय के नए प्रशासनिक ब्लाक का निर्माण कार्य भी 31 मार्च तक पूरा किया जाएगा। इस प्रोजैक्ट पर अभी तक 10 करोड़ रुपए की राशि खर्च की जा चुकी है। उन्होंने बताया कि लोक निर्माण विभाग की तरफ से शीघ्र ही कैलाश नगर के पास लोगों के लिए परेशानी बनी खाली जमीन पर अब प्रथम, द्वितीय, ततृीय श्रेणी के अधिकारी कर्मचारियों के लिए 48 मकान बनाए जाने है। इस पर 15 करोड़ 28 लाख रुपए का बजट खर्च किया जाएगा। इस प्रोजैक्ट के साथ-साथ ही बौद्घ स्तूप का निर्माण कार्य भी शीघ्र शुरु किया जाएगा। इस प्रोजैक्ट पर सरकार की तरफ से 4 करोड़ 50 लाख रुपए की राशि खर्च की जाएगी।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।