स्वच्छता सर्वेक्षण में अब सामुदायिक शौचालयों के बाहर अंकित किए गए क्यूआर कोड से दे सकेंगे फीडबैक:सुधा
February 3rd, 2021 | Post by :- | 49 Views
कुरुक्षेत्र, ( सुरेशपाल सिंहमार )    ।     विधायक सुभाष सुधा ने कहा कि स्वच्छता सर्वेक्षण में लोगों की फीडबैक बहुत जरुरी है। इस शहर के लोगों से फीडबैक लेने के लिए नगर परिषद के सभी सार्वजनिक शौचालयों के बाहर क्यूआर कोड अंकित कर दिया गया है। इस क्यूआर कोड के माध्यम से शहर के सिटीजन अपनी फीडबैक दे सकते है। अहम पहलू यह है कि थानेसर नगर परिषद सिटीजन फीडबैक की रिपोर्ट में दसवें स्थान पर है।
विधायक सुभाष सुधा बुधवार को देर सायं सैक्टर 7 आवास कार्यालय पर स्वच्छता सर्वेक्षण अभियान को लेकर नगर परिषद के अधिकारियों की बैठक को सम्बोधित कर रहे थे। इससे पहले विधायक सुभाष सुधा और नप अध्यक्षा उमा सुधा ने नगर परिषद के अधिकारियों से थानेसर नगर परिषद के स्वच्छता सर्वेक्षण से सम्बन्धित फीडबैक रिपोर्ट हासिल की है। विधायक ने कहा कि नगर परिषद थानेसर के सिटीजन से फीडबैक लेने का आनलाईन लिंक 31 मार्च तक एक्टिव रहेगा और इस लिंक पर अब तक 27 हजार 229 लोग अपनी फीडबैक दे चुके है। थानेसर नगर परिषद फीडबैक देने में नगर निगमों को भी पीछे छोड़ चुका है। यह नगर परिषद सिटीजन फीडबैक की रिपोर्ट में हरियाणा प्रदेश में दसवें स्थान पर है।
उन्होंने लोगों से अपील की है कि स्वच्छता सर्वेक्षण को लेकर अधिक से अधिक लोग अपनी फीडबैक दे ताकि सिटीजन फीडबैक के लिए थानेसर नगर परिषद प्रदेश में अव्वल स्थान पर पहुंचे। इस सिटीजन फीडबैक में अधिक से अधिक लोगों को जोडऩे के लिए थानेसर नगर परिषद के 18 सामुदायिक शौचालय, एक कर्मीशियल शौचालय और 4 ई-शौचालयों के बाहर क्यूआर कोड व बार कोड अंकित कर दिया गया है। इन शौचालयों के बार कोड से आम नागरिक सिटीजन फीडबैक पर अपनी रिपोर्ट दे सकता है। उन्होंने अधिकारियों को आदेश दिए की शहर के सभी वार्डों में स्वच्छता पर विशेष फोकस रखा जाए और नियमित रुप से शहर की मुख्य सडक़ों, वार्डों की गलियों और नालियों को साफ किया जाए तथा सीवरेज व्यवस्था को दुरुस्त रखा जाए। इसके साथ ही डम्पिंग स्थलों पर रोजाना सफाई करनी सुनिश्चित की जाए तथा घर-घर से नियमित रुप से कचरा एकत्रित किया जाए।
इस मौके पर नप अध्यक्षा उमा सुधा, पार्षद मुकुंद सुधा, भाजपा युवा नेता साहिल सुधा, समाज सेवी प्रदीप झाम्ब सहित विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।