मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध करवाना गृह मंत्री अनिल विज के मुख्य ऐजेन्डे में।
February 3rd, 2021 | Post by :- | 133 Views

अंबाला :(आशोक शर्मा)
विधानसभा के हर नागरिक तक मूलभूत सुविधाएं सुविधाएं उपलब्ध करवाना हमेशा से ही गृह मंत्री अनिल विज के मुख्य ऐजेंडे में है। स्वच्छ पेयजल, स्वास्थ्य, सफाई व्यवस्था, सड?ें, बिजली ऐसी मूलभूत सुविधाएं है। जिनकी हर आदमी को जरूरत है। ये सुविधाएं सभी को मिले इसके लिए प्राथमिकता के आधार पर कार्य जारी है। स्वच्छ पेयजल व्यवस्था को लेकर जब जनस्वास्थ्य विभाग के कार्यकारी अभियंता अनिल चौहान से बात की गई तो उन्होंने बताया कि अम्बाला छावनी में जनस्वास्थ्य विभाग द्वारा विभिन्न विषयों को लेकर कार्य जारी हैं। सीवरेज व्यवस्था के तहत अम्बाला छावनी में परिषद् क्षेत्र के शहरी और ग्रामीण इलाके में हर घर तक सीवरेज सुविधा उपलब्ध करवाने के लिए लगभग 215 करोड़ रूपये की लागत से सीवरेज बिछाने का कार्य तेजी से किया जा रहा है। पहले फेस में 125 करोड़ तथा दूसरे फेस में 90 करोड़ रूपये की राशि खर्च की जा रही है। इन विषयों को लेकर गृह मंत्री अनिल विज समय-समय पर चल रहे कार्यो की समीक्षा भी करते रहते हैं।
ग्रामीण क्षेत्र में हर घर तक स्वच्छ पेयजल की व्यवस्था उपलब्ध करवाने के लिए 15 अगस्त 2019 को देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जल जीवन मिशन की शुरूआत की थी। इसका मुख्य उद्देश्य यही था कि ग्रामीण क्षेत्र में हर व्यक्ति तक स्वच्छ पीने का पानी पहुंचे और पानी की गुणवत्ता भी बेहतर हो। अम्बाला छावनी क्षेत्र में इस परियोजना के तहत कार्य जारी हैं। क्षेत्र के बरनाला में 22 लाख रूपये से अधिक की लागत से 1200 मीटर लंबी पाईप बिछाने का कार्य जारी है। इसी प्रकार गरनाला में 14 लाख रूपये से अधिक की लागत से 730 मीटर पीने के पानी की पाईप लाईन बिछाने के चलते अब तक 337 मीटर पाईप लाईन बिछा दी गई है। इसी प्रकार जनेतपुर में 19 लाख रूपये से अधिक की लागत से 1010 मीटर पाईप लाईन बिछाने का कार्य पूरा कर लिया गया है। इसी प्रकार टुंडली में करीब 19 लाख रूपये की लागत से 980 मीटर पाईप लाईन बिछाई गई है। जिला में इसके लिए 2022 तक का लक्ष्य रखा गया था लेकिन विभाग द्वारा 15 दिसम्बर 2020 तक कार्य पूरा कर लिया गया। इसके अलावा एफएचटीसी यानि फंक्सनल हाउस टैप कनैक्शन शत प्रतिशत उपलब्ध करवाकर प्रदेश में दूसरा स्थान हासिल किया है।
यहां पर यह भी उल्लेखनीय है कि अक्तूबर वर्ष 2014 से दिसम्बर 2020 तक शहरी क्षेत्र में 49 और ग्रामीण क्षेत्र में 11 टयूबवैल लगाये गये हैं जिनमें क्रमश: 1043 लाख और 160 लाख रूपये की धनराशि खर्च हुई है। इसी प्रकार शहरी क्षेत्र में 9 बुस्टिंग स्टेशन वितरण व्यवस्था के साथ स्थापित किए गये हैं जिन पर 4017 लाख रूपये की धनराशि खर्च हुई है। इसके अलावा स्टोरम पाईप लाईन बिछाने पर करीब 55 लाख रूपये की धनराशि खर्च हुई है। इतना ही नही अन्य पाईप लाईन भी डाली गई है। कुल मिलाकर इस विषय के तहत शहरी और ग्रामीण क्षेत्र में 5374 लाख रूपये से अधिक की धनराशि खर्च की ग

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।