शहीदों के बलिदानों से ही हम विश्व के सबसे बड़े प्रजातंत्र देश में स्वतंत्र रूपी सांस ले रहे हैं- महापौर, श्री कुलभुषण गोयल
January 26th, 2021 | Post by :- | 47 Views

पंचकूला, 26 जनवरी- नगर निगम पंचकूला के महापौर श्री कुलभुषण गोयल ने सेक्टर-14 स्थित निगम कार्यालय के परागण में 72 वें राष्ट्रीय पर्व गणतंत्र दिवस के शुभ अवसर पर ध्वजारोहण किया तथा सलामी दी ।

इस अवसर पर महापौर ने शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि उनके त्याग, बलिदान और लम्बे संघर्ष के कारण ही आज हम विश्व के सबसे बड़े प्रजातंत्र देश में स्वतंत्र रूपी सांस ले रहे हैं । उन्होंने कहा कि आजादी स्वतंत्रता सेनानियों की धरोहर है इसकी रक्षा करना तथा राष्ट्र की एकता एवं अखंडता को बनाये रखना हमारा दायित्व है। शहीदो के फलस्वरूप ही देशवासियों को गणतंत्र दिवस का राष्ट्रीय पर्व मनाने का अवसर प्राप्त हुआ है ।

उन्होंने कहा कि देश की स्वतंत्रता के इतिहास में 26 जनवरी का महत्वपूर्ण स्थान है और इतिहास में भारतीय संविधान से जोड़ा गया है और भारतवर्ष का एक महत्वपूर्ण राष्ट्रीय पर्व बन गया है। 26 जनवरी 1950 को भारत की नये संविधान की स्थापना के बाद प्रति वर्ष इसी तिथि को गणतंत्र दिवस के रूप में मनाये जाने की पंरपरा आंरभ हुई, क्योंकि भारत का संविधान 26 जनवरी 1949 को अंगीकृत किया गया था।

उन्होंने पंचकूला के चॅंहुमुखी विकास पर प्रकाश डालते हुए कहा कि हमारा संकल्प पंचकूला को स्वच्छ, सुन्दर, हराभरा व आत्म निर्भर बनाना है। उन्होंने कहा कि हम पंचकूला को शिक्षा व मेडिकल हब, विश्वविद्यालय खोलने के साथ-2 यहां पर बैंकट हाल जैसी सुविधाएं उपलब्ध करवाने की दिशा में प्रयासरत है। उन्होंने कहा कि पंचकूला को हरा-भरा बनाने की दिशा में बागवानी को विशेषतौर पर बढ़ावा दिया जा रहा है।

कार्यक्रम में निगम के संयुक्त आयुक्त संयम गर्ग, अधीक्षक अभियंता विजय गोयल, उप नगर आयुक्त दीपक सूरा, कार्यकारी अधिकारी श्री जरनैल सिंह, वरिष्ठ लेखा अधिकारी, श्री धर्मपाल, कार्यकारी अभियंता अंकित लोहान, संजीव गुप्ता, श्री राज कुमार, मुनसीपल इंजीयर, मुख्य सफाई निरीक्षक साधु राम सहित अन्य अधिकारी भी उपस्थित रहे ।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।