राहुल पठानिया जिला परिषद चेयरमैन के सशक्त उम्मीदवार” जिन्होंने पूरी विधानसभा में बचाई भाजपा की लाज
January 26th, 2021 | Post by :- | 237 Views

मुकेश सरमाल  इंदौरा

प्रदेश में चुनाव खत्म हो चुके हैं और जीते हुए उम्मीदवार जश्न मना रहे हैं और लोगों का उनके घरों बधाई देने का तांता लगा हुआ है ऐसे में विधानसभा इंदौरा से एक पढ़ा-लिखा उम्मीदवार डमटाल वार्ड 1 जीता है जिसने इंदौरा भाजपा की लाज बचाई है और अपने चुनावी मुकाबले में एकतरफा जीत अपने नाम की है हम बात कर रहे हैं उस उम्मीदवार की जिसका नाम राहुल पठानिया पुत्र रंजीत सिंह है

राहुल पठानिया का परिवार एक व्यवसाई और उनके पिता रंजीत पठानिया का राजनीति में अच्छा रसूख और पकड़ है

ऐसे में लोगों में हर तरफ चर्चा है कि राहुल पठानिया अब जिला कांगड़ा का जिला परिषद चेयरमैन बनेगा और जिले को ऊंचाइयों पर ले कर जाएगा

वही इस संबंध में राहुल पठानिया ने लोगों को धन्यवाद करते हुए कहा कि जनता ने उनको जो वोट के रूप में प्यार दिया हैवे उन का तहे दिल से शुक्रिया अदा करते हैं और जनता का हर कार्य करना उनका प्राथमिक धर्म है और वह जनता जनार्दन की हर समस्या को निपटाएंगे

इन निम्नलिखित कार्य को प्रायरिटी से करेंगें!

1 सरकार और प्रशासन की योजनाएं गरीब और असहाय वर्ग तक पहुंचाना और लाभ मिलने मे मदद करना

2 क्षेत्र में बॉर्डर से आ रहे नशाखोरी  को समाप्त करने के लिए प्रयास

3 क्षेत्र में बाल अपराध और महिला उत्पीड़न के लिए काउंसलिंग सेल का निर्माण करना

3 क्षेत्र में प्रतिभाबान युवाओं के लिए प्रति पंचायत खेल सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजन करना

4 समय-समय पर भिन्न-भिन्न पंचायतों में कानूनी एवं नागरिकता जागरूकता कैंप का आयोजन करना

5 प्रति पंचायत पर्यावरण रक्षक एवंम ब्लड डोनर  टीमें तैयार करना

 

6 अपंग एवं असहाय व्यक्तियों की आवाज प्रशासन तक सीधा पहुंचाना

वहीं पहली बार चुनावी मैदान में उतरे राहुल पठानिया ने अपने प्रतिद्वंदी को साढ़े  4 हजार मतों से प्राप्त कर विजय प्राप्त की है जिस पर राहुल पठानिया को जिला परिषद चेयरमैन के पद का सशक्त उम्मीदवार लोगों ने बताना शुरू कर दिया है

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।