पीलीभीत : ब्लाकों में ग्राम पंचायतो में हुए विकास कार्यो को लेकर सचिवों व कर्मचारियों के बीच आपसी मनमुटाव
January 13th, 2021 | Post by :- | 45 Views

ब्लाकों में कमीशन खोरी को लेकर कर्मचारियों के बीच मची खींचतान

सचिवों व ग्राम प्रधानों सहित सेकेट्री टीए के बीच हुए बंदर बांट को लेकर ब्लॉक का असली चेहरा उजागर

पीलीभीत का मरौरी ब्लाक, पूरनपुर ब्लाक बना चर्चा का विषय

पीलीभीत, विक्रान्त ऋषि।

पीलीभीत के मरौरी ब्लॉक में तैनात एक सचिव व उनके कर्मचारियों सहित जूनियर इंजीनियर के बीच ग्राम पंचायतों में कराए गए विकास कार्यो को लेकर ग्राम प्रधानों द्वारा मोटे कमीषन के चलते ब्लॉक कर्मियों में आपसी मतभेद व नोंकझोंक चल रही है । जो अब जग जाहिर होने लगी है। आपको बता दें ग्राम पंचायत चुनाव से पूर्व 25 दिसंबर को ग्राम प्रधानों के वित्तीय अधिकार सींज होने से पहले जिले के लगभग 09 ब्लाकों के ग्राम प्रधानों व सैकेट्री से मिलकर सरकार के करोड़ो का बंदर बांट कर बजट ठिकाने लगाजे दिया था ।जिसके बाद जिलाधिकारी पुलकित खरे के आदेश पर कई सचिवों सहित उनके ड्राइवर व निजी फर्मो की जांच कर सम्बंधित फर्मो व उनके मालिको सचिवों पर एफआईआर दर्ज कर रिकवरी के आदेश की कार्रवाई भी की गई थी। जिसमें अमरिया के एपीओ सहित 04 रोजगार सेवकों को जेल भेजा गया तो पूरनपुर माधौटांडा ब्लाक में फर्म पर एफआईआर दर्ज कर टीए व रोजगार सेवक को निलंबित करने की कार्रवाई की गई थी ।लेकिन इतनी बड़ी कारवाई ब्लाक स्तर पर होने के बाद भी ब्लाकों में तैनात सचिवों व रोजगार सेवकों सहित टी ए के बीच विकास कार्यो में किए गए बंदर बांट के कमीषन बंटवारे को लेकर आपसी फूट चल रही है । जिसको लेकर सचिव ग्राम प्रधान, सेकेट्री सहित ब्लाक के कई कर्मचारियों के बीच लेन देन को लेकर विबाद है । बीते दिनों ब्लॉक कार्यलय के अंदर कुछ कर्मियों में जमकर हाथापाई की भी सूचना आ रही है । ऐसे में जिले के ब्लॉक स्तर पर जांच कर रहे उच्च अधिकारियों ने मामले को संज्ञान में लेते हुए जांच कर कार्रवाई की बात कही है । लेकिन हकीकत यह है कि सूचना तो उच्च अधिकारियों को पहले से ही थी क्यों कि सूत्रों से माना जा रहा है, कि ब्लाकों में तैनात दबंग सचिवों के आगे अधिकारि भी सांठगांठ में संलिप्त होकर बहती गंगा में मानो हाथ धोने जैसा काम करते ही है । फिलहाल इन दिनों पीलीभीत के मरौरी ब्लाक में कर्मचारियों के बीच कमीषन बंटवारे को लेकर आपसी मनमुटाव चल रहा है ।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।