लोक अदालत में निपटाए गए एक हजार से अधिक केस
September 16th, 2019 | Post by :- | 99 Views

नूंह   :     जिला अदालत नूंह में  नेशनल लोक अदालत का आयोजन किया गया। जिसमें कुल 1223 केसों की सुनवाई हुई तथा 1057 केसों का मौके पर ही निपटान कर दिया गया। इस दौरान निपटाए गए केसों में 1.5 करोड से अधिक रुपए का सेटलमेंट भी किया गया।

लोक अदालत में मोटर एक्सीडेंट क्लेम, रिकवरी, चैक बाउंस, वैवाहिक झगड़े तथा अन्य प्रकार के केसों को रखा गया था। लोक अदालत के लिए अतिरिक्त जिला न्यायधीश रजनी यादव तथा सिविल जज सीनियर डिविजन विशाल की बेंच ने सुनवाई की। दोनों बेंचों के समक्ष प्रि-लिटिगेटिंग स्टेज तथा पेंडिग ट्रायल दोनों की ही प्रकार के केसों को रखा गया था। प्रि-लिटिगेटिंग स्टेज पर 358 केसों की सुनवाई की गई। जिनमें सभी केसों को मौके पर ही निपटा दिया गया। प्रि-लिटिगेटिंग स्टेज पर 24 लाख 96 हजार 500 रुपए को सेटलमेंट अमाउंट के रूप में निर्धारित किया गया। वहीं दूसरी ओर पेंडिंग ट्रायल के 865 केसों को निपटारे के लिए रखा गया था। जिनमें से 699 केसों का निपटारा आपसी समझौते के आधार पर कर दिया गया। इसके अलावा 1 करोड 25 लाख 41 हजार 819 रुपए को सेटलमेंट अमाउंट के रूप में निर्णित किया गया। जिला विधिक सेवाएं प्राधिकरण की सचिव एवं नूंह की सीजेएम नीरु कंबोज ने बताया कि देशभर की अदालतों पर पेंडिंग केसों की एक लंबी लिस्ट है। नूंह जिले की अदालतों में भी 21 हजार से अधिक केस पेंडिंग हैं।

लोक अदालतों के माध्यम से इन केसों का तेजी से निपटारा किया जाता है। कई केस ऐसे होते हैं, जिनमें दोनों पक्ष आपसी सहमति से केस निपटाना चाहते हैं। लेकिन फिर भी उनकी तारीख चलती रहती हैं। लोक अदालतों में ऐसे केसों का तुरंत निपटारा कर दिया जाता है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।