गुरु नानक देव ने दिखाया मानव जाति को सद्मार्ग, हम सभी को गुरुओं के दिखाए गए रास्ते पर चाहिए चलना : चेयरमैन रणधीर गोलन
November 30th, 2020 | Post by :- | 58 Views

कैथल(विशाल चौधरी)हरियाणा के पर्यटन निगम के चेयरमैन रणधीर गोलन ने कहा कि गुरु नानक देव जी ने मानव जाति सदमार्ग दिखाया। हम सभी को गुरु को दिखाए गए रास्ते पर चलना चाहिए और सभ्य समाज की स्थापना करनी चाहिए। आने वाली पीढ़ी को गुरु के बारे में बताएं, ताकि उन्हें संस्कारित किया जा सके। गुरु किसी एक धर्म मजहब के नहीं होते बल्कि वे तो सभी धर्मों व वर्गों में पूजनीय होते हैं।
चेयरमैन रणधीर गोलन गुरु नानक देव जयंती प्रकाश उत्सव गांव हाबड़ी के गुरुद्वारे में बोल रहे थे। उन्होंने इस मौके पर गुरु ग्रंथ साहब के आगे शीश नवाया और अरदास की। चेयरमैन रणधीर गोलन ने कहा कि गांव हाबड़ी में छोटे साहिबजादे की स्मृति में एक भव्य द्वार का निर्माण किया जाएगा, जो काफी अलग होगा और बाहर से लोग इसे देखने आएंगे। इसके साथ-साथ दीवान हाल में भी पत्थर लगाए जाएंगे। गुरु नानक देव जी ने पूरे विश्व को सच्चाई पर चलने की राह दिखाई है। उनके दिखाए गए रास्ते का अनुसरण करते हुए सभ्य समाज की स्थापना करके आगे बढ़ाना चाहिए। हिंदुस्तान के गुरुद्वारे में सेवा भाव से कार्य किया जाता है। गुरुद्वारे में आने वाले सभी लोगों को भोजन व रहने की उचित व्यवस्था की जाती है। जितने भी संत महापुरुष हुए हैं, उनकी जयंती को सरकारी तौर पर मनाया है और आने वाली पीढ़ी को उनके बारे में बताने के लिए विशेष अभियान भी चलाए गए हैं। उन्होंने कहा कि सेवा भाव का जज्बा लेकर 24 घंटे सेवा करने का प्रण लिया है। मैं विधायक नहीं सेवादार व चौकीदार बनकर हलके के सभी वर्गों को साथ लेकर कार्य करूंगा। गुरूद्वारा में भी मुझे सेवा करने का मौका मिला है और निरंतर करता रहुंगा। करोड़ों रुपए की धनराशि से विकास कार्य को अमलीजामा पहनाया जा रहा है, ताकि हल्के की एक विशेष पहचान बने। उन्होंने कहा कि समाज के सामूहिक कार्यों को प्राथमिकता से किया जा रहा है। आमजन सामूहिक कार्यों के बारे में अवगत करवाएं, उन्हें पूरा करवाने का हर संभव प्रयास किया जाएगा। हर व्यक्ति को शिक्षा पर ध्यान देना चाहिए और अपने बच्चों को अच्छी शिक्षा देने का कार्य करना चाहिए। गुरुद्वारा कमेटी ने चेयरमैन रणधीर गोलन को सरोपा व स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।