सीमा पार से नशा तस्करी के मॉड्यूल का देहाती पुलिस ने किया भांडाफोड़ ।
November 29th, 2020 | Post by :- | 158 Views
सीमा पार से नशा तस्करी के मॉड्यूल का  देहाती पुलिस ने किया भांडाफोड़ ।
 जंडियाला गुरु कुलजीत सिंह
   ध्रुव दहिया एसएसपी ग्रामीण अमृतसर ने एक बड़ी सफलता हासिल की है जिसमें एक सीमा पार से मादक पदार्थों की तस्करी के मॉड्यूल का भंडाफोड़ किया गया है।
 एक गुप्त सूचना मिली थी कि हिम्मत सिंह @ दलबीर सिंह निवासी गांव  मोदे  थाना  घरिंडा  के साथ नानक सिंह और कुछ अज्ञात लोगों ने सीमा पार से नशीले पदार्थों की तस्करी और बिक्री के लिए एक गिरोह बनाया है।  उन्होंने सीमा पार से भारी मात्रा में हेरोइन की तस्करी की है और इसे ग्राम पंजगराया में गन्ने के खेतों में छिपा दिया है। एसआई सुखजिंदर सिंह खैहरा  एसएचओ भिंडी सैदां  ने इस मामले में एनडीपीएस अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया है। हिम्मत  सिंह निवासी  मोधे को गिरफ्तार किया गया था।  जांच ने  हिम्मत सिंह  ने अपराध कबूल किया और स्वीकार किया कि उसने हेरोइन की तस्करी पाकिस्तान से की थी और इसे गन्ने के  खेत में छिपा दिया था। क्षेत्र की तलाशी हेरोइन 3 किलो बरामद हुई थी ।
 हिम्मत सिंह ने यह भी खुलासा किया कि पूरा ऑपरेशन मलकीत सिंह @fauji पुत्र  बलदेव सिंह  निवासी गांव मुहावा थाना  घरिंडा  द्वारा जेल से  नेटवर्क चलाया जा रहा था।  मलकीत सिंह फरीदकोट जेल में एफआईआर नंबर 82 दिनांक 8.5.2019 की धारा आधिकारिक गुप्त अधिनियम और एनडीपीएस अधिनियम के तहत दर्ज मामले में बंद है ।। जेल अधीक्षक फरीदकोट को सूचित किया गया है और फोन मलकीत सिंह से बरामद किया गया है। फरीदकोट जिले में भी  कार्रवाई की जा रही है।
 हिम्मत सिंह ने खुलासा किया कि मलकीत सिंह @ फौजी जो  जेल से पाकिस्तानी तस्करों से बात करते थे और ड्रग्स की खेप मंगवाते थे। हिम्मत सिंह ने मलकीत सिंह @ फौजी  के निर्देश पर खेप को छुड़ा लिया। था । हिम्मत  सिंह ने यह भी  खुलासा किया कि पाकिस्तान के तस्करों ने हेरोइन को सॉफ्ट ड्रिंक के अंदर डाल दिया था।  बोतलों को  रावी के पानी के प्रवाह में डालकर भारत में तस्करी की थी, खासकर जहां नदी मुड़ती है और सीमा पार करती है।
 गौरव तुरा  एसपी  जांच ने पूरे ऑपरेशन का बारीकी से निरीक्षण किया गया। गुरपताप सिंह सहोता डीएसपी अटारी और विपन कुमार डीएसपी अजनाला। सीमा पार से ड्रग्स तस्करी के बड़े मॉड्यूल का भंडाफोड़ किया गया है जो जेल से चलाया जा रहा था।  आरोपियों से पूछताछ आगे और पिछड़े संबंधों को उजागर करने के लिए की जा रही है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।