जांजगीर-चांपा जिले के ग्राम पंचायत चऱौदी के सरपंच की मनमानी चरम सीमा पर है!
November 27th, 2020 | Post by :- | 114 Views
जांजगीर-चांपा जिले के ग्राम पंचायत चऱौदी के सरपंच की मनमानी चरम सीमा पर है!

*ग्राम पंचायत चरौदी के सरपंच की मनमानी चरम सीमा पर है*

चरौदी के ग्रामीण ने किया मुक्तिधाम रुकवाने के लिए एसडीएम कार्यालय में शिकायत

*कब खुलेगा जिम्मेदार अधिकारियों का नींद लापरवाह सरपंच के हौसले बुलंद*

जांजगीर-चांपा जिले के मालखरौदा जनपद पंचायत अंतर्गत आने वाले ग्राम पंचायत चरौदी में इन दिनों सरपंच की मनमानी चरम सीमा पर है जो कि मुक्तिधाम के लिए चरौदी के पटवारी ने जगह चिन्हांकित किया था लेकिन सरपंच के मनमानी रहवे से मुक्तिधाम किसी और जगह बनाया जा रहा है जिस पर आज ग्रामीणों ने रोक लगाने के लिए एसडीएम कार्यालय में शिकायत किया गया है आपको बता दें कि इससे पहले भी लगातार ग्राम पंचायत चरौदी के सरपंच द्वारा लापरवाही की खबर प्रमुखता से दिखाई जा रही है पर अधिकारियों का इस पर मोंम धरण रहना भी काफी सवाल खड़े कर रहे हैं आखिर क्यों कार्यवाही करने से घबरा रहे हैं जिम्मेदार अधिकारी या कोई राजनीतिक संरक्षण है सरपंच को अब देखना होगा कि मामले की शिकायत के बाद किस मूड में आते हैं जिम्मेदार अधिकारी या वही रहेगा जो हमेशा से देख रहे हैं चुप्पी साधे बैठे रहेंगे जिम्मेदार अधिकारी

 

*आखिर किसका मिल रहा है ग्राम पंचायत चरौदी के सरपंच को संरक्षण*

आपको बता दें कि ग्राम पंचायत चरौदी के सरपंच अपने मनमानी रवैया से बाज नहीं आ रहे हैं लगातार किसी ना किसी तरह से लापरवाही कर रहे हैं फिर भी जिम्मेदार अधिकारी उस पर खामोश हैं सरपंच के लापरवाही को ग्रामीणों द्वारा लगातार जिम्मेदार अधिकारी को शिकायत किया जा रहा है लेकिन अब तक सरपंच के ऊपर कोई ठोस कार्रवाई नहीं होने से सरपंच के हौसले बुलंद होते जा रहे हैं जो कि अब इस नतीजे तक आ गई कि मुक्तिधाम जहां बनाना है वहां नहीं बनाया जा रहा है किसी दूसरे जगह बनाया जा रहा है जिस पर ग्रामीणों ने एसडीएम कार्यालय में शिकायत किया है

*क्या कहते हैं चरोदी के ग्रामीण*

हमारी टीम ने जब ग्राम पंचायत चरौदी के ग्रामीणों से बात की तो उनका कहना है कि हम सालों से ही जिस जगह आदमियों को ले जा रहे हैं उसी जगह मुक्तिधाम निर्माण होना चाहिए क्योंकि अब दूसरे जगह भी बनेगा तो वहां शायद ही हम वहां जलाने जा पाएंगे क्योंकि हम सालों से तो यही ले जा रहे हैं किसी भी आदमी के मृत्यु के बाद लेकिन अब सरपंच के मनमानी रवैया से यह भी दिन देखना पड़ रहा है अधिकारियों से निवेदन है कि मुक्तिधाम सही जगह में बनाया जाए

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।