आर०एस० योगा संस्थान के कार्यक्रमों में शिविर लगाकर लोगों को जागरूक करने का प्रयास किया गया |
September 15th, 2019 | Post by :- | 29 Views

हसनपुर पलवल (मुकेश वशिष्ट) :- केन्द्रीय शिक्षा मंत्रालय द्वारा योगा को पाठ्यक्रम में वर्तमान खेल मंत्रालय द्वारा योगा को खेल का दर्जा देने के साथ ही युवाओं में योगा का क्रेज सिर चढ़कर बोल रहा है। क्षेत्र का युवा वर्ग योगा शिक्षा केन्द्रों के माध्यम से प्रशिक्षित योगाचार्यों द्वारा योगा का प्रशिक्षण ले रहे हैं। योग साधना को मन, मस्तिष्क को एकाग्रचित्त करने तथा शारीरिक विकारों को दूर करने का उत्तम साधन बताया गया है। इलाके में योगा संगठनों से जुड़े युवा पौधारोपण, सफाई अभियान एवं रक्तदान जैसे सामाजिक कार्यों में भी अहम भूमिका निभा रहे हैं।

अब योगा खिलाड़ियों को भी अंतरराष्ट्रीय मंच पर उम्दा प्रदर्शन करने का अवसर मिलेगा। अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा सिफारिश किए जाने के बाद योग शिक्षा को पाठ्यक्रम में शामिल कर लिया गया है इसके अलावा केंद्रीय खेल मंत्रालय द्वारा योगा को खेल का दर्जा दिया गया है। अब योगा को जिमनास्टिक की तर्ज पर खेलों के रूप में लिया जाएगा। खेल मंत्रालय योगा की चैम्पियनशिप के लिए खेल फेडरेशन को आर्थिक मदद करेगा और अंतरराष्ट्रीय आयोजन के लिए भी मदद करेगा। युवाओं को अब योगा के क्षेत्र में भी अपना भविष्य दिखाई देने लगा है इसलिए युवाओं का रुझान योगा के प्रति अधिक होती जा रही है।

योगा कार्यकर्ताओं द्वारा विभिन्न सामाजिक कार्यों में बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया जाता है हाल ही में आर एस योगा संस्थान के कार्यक्रमों में पौधारोपण, सफाई अभियान तथा रक्तदान जैसे सफल शिविर लगाकर लोगों को जागरूक करने का प्रयास किया गया है।आर एस योगा संस्थान के निदेशक फतेहराम शर्मा ने बताया कि उनके संस्थान द्वारा प्रशिक्षित योगाचार्यों के माध्यम से लोगों को योग शिक्षक का प्रशिक्षण दिया जाता है। उन्होंने बताया कि योग शिक्षा को पाठ्यक्रम में शामिल किया गया है और भविष्य में विद्यालयों में शिक्षकों की भर्ती होने की प्रबल संभावना जताई जा रही है जिससे योग शिक्षको को रोजगार के अवसर मिलेगा।

सरकार द्वारा योगा को जिमनास्टिक में शामिल किए जाने से योगा प्रतियोगिता में भाग लेने के लिए युवाओं में काफी उत्साह है। योगाचार्य ललित आर्य ने कहा कि योग साधना से मन, मस्तिष्क को ऊर्जा मिलती है और शारीरिक विकारों से छुटकारा मिलता है अब सरकार के द्वारा योगा को बढ़ावा देने से अंतरराष्ट्रीय आयोजनों में हमारे युवाओं को खेल के साथ रोजगार भी मिलेगा।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।