बी- फार्मेसी मे नव प्रवेशित विद्यार्थियों के लिए ऑनलाइन ओरियंटेशन कार्यक्रम का आयोजन|
November 20th, 2020 | Post by :- | 124 Views

पलवल (मुकेश कुमार हसनपुर) :- एमवीएन विश्वविद्यालय के स्कूल ऑफ फार्मास्यूटिकल साइंसेस द्वारा  बैचलर इन फार्मेसी के नव प्रवेशित विद्यार्थियों के लिए ऑनलाइन ओरियंटेशन कार्यक्रम का आयोजन किया गया I कार्यक्रम का शुभारंभ विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ जे वी देसाई ने अपने विचार विद्यार्थियों के सामने रखते हुए किया और उन्हें जीवन में कुछ करने के लिए प्रेरित भी किया I  इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि  डॉ राहुल तनेजा  (वैज्ञानिक, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग, हरियाणा सरकार) ने बौद्धिक संपदा अधिकार तथा सचिन  गांधी

(सह संस्थापक मेडिसन बाबा ट्रस्ट) ने अपर्युक्त दवाओं के  सही निपटान  के बारे में विस्तार से बताया I विश्वविद्यालय के कुलसचिव डॉ राजीव रतन ने भी विद्यार्थियों को प्रेरित किया एवं कहा कि आप बहुत भाग्यशाली हैं आपने ऐसे संस्थान में दाखिला लिया है जहां पर विद्यार्थियों को सिद्धांत के साथ प्रैक्टिकल ज्ञान भी दिया जाता है एवं बताया कि यहां  से पास होने वाले काफी विद्यार्थी बहुराष्ट्रीय कंपनियों मे अपनी सेवाएं दे रहे हैं I फार्मेसी विभाग के  विभागाध्यक्ष  डॉ तरुण विरमानी ने कहा की शिक्षा जीवन के लिए तैयारी नहीं है, शिक्षा ही जीवन है I

उन्होंने यह भी कहा कि भारत को प्रधानमंत्री  नरेंद्र मोदी ने विश्व फार्मेसी के नाम से संबोधित किया क्योंकि कोरोना के समय भारत ने 130 देशों को दवाइयां प्रदान की I  इस कार्यक्रम के सफलतापूर्वक समापन  पर प्रबंधक संचालक कांता शर्मा, अध्यक्ष वरुण शर्मा एवं कुलाधिपति संतोष शर्मा ने भी विद्यार्थियो के उज्जवल भविष्य की शुभकामनाएं दी    इस अवसर पर डीन एकेडमिक्स डॉ सचिन गुप्ता, अकादमिक समन्वयक देवेश भटनागर, परीक्षा नियंत्रक डॉ कुलदीप, डॉ मुकेश सैनी राष्ट्रीय मूल्यांकन एवं प्रत्यायन परिषद नियंत्रक, सीआरसी महाप्रबंधक गौरव सैनी  ने भी अपने विचार सांझा किए I कार्यक्रम के दौरान समस्त अध्यापक गण रेशु विरमानी, मोहित संदूजा, गिरीश कुमार, मोहित मंगला, गीता मेहलावत, अनुभव कुमार, उमाकांत सिंह, साहिल शर्मा, अंजली शर्मा, अश्वनी शर्मा और सभी गैर शिक्षण कर्मचारी इत्यादि उपस्थित रहे I

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।