जंपिंग या मीटरों के तेज चलने की शिकायतों पर अविलंब लगाएं चेक मीटर : पं. श्रीकांत शर्मा
November 11th, 2020 | Post by :- | 199 Views

मथुरा,(राजकुमार गुप्ता) उत्तर प्रदेश ऊर्जा एवं अतिरिक्त ऊर्जा स्रोत मंत्री पं. श्रीकांत शर्मा ने बुधवार को मध्यांचल विद्युत वितरण निगम के मुख्यालय पर राजधानी की विद्युत आपूर्ति की समीक्षा की। ऊर्जा मंत्री ने निर्देश दिए कि आगामी गर्मियों के दृष्टिगत राजधानी व डिस्कॉम के अधीन आने वाले सभी महानगरों में ट्रिपिंग फ्री निर्बाध आपूर्ति के लिए आवश्यक संसाधन जुटाने व अपने वितरण नेटवर्क को सुधार लेने के निर्देश दिए।
उन्होंने जंपिंग या मीटरों के तेज चलने की शिकायतों पर अविलंब चेक मीटर लगाने के आदेश भी दिये।

ऊर्जा मंत्री ने कहा कि सभी चीफ इंजीनियर अपने अधीन उपकेंद्रों का ऑडिट कर लें, जहां भी कमियां हैं उनको दुरुस्त करने के सभी कार्य समय से पूरे हो जाएं। कहा कि प्रदेश में बिजली की कोई कमी नहीं है। दीपावली में उपभोक्ताओं को निर्बाध बिजली मिलेगी। उन्होंने निर्बाध आपूर्ति के लिए अतिरिक्त तैयारियों की समीक्षा के भी निर्देश दिए।

उन्होंने यह भी कहा कि मीटर जम्प करने या तेज चलने संबंधी समस्याओं की शिकायत आते ही तत्काल उपभोक्ता के परिसर में चेक मीटर लगाया जाए। यह चेक मीटर किसी अन्य कंपनी का हो यह भी सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। कहा कि उपभोक्ता की संतुष्टि जरूरी है। इसके लिए ऊर्जा विभाग को प्रभावी कदम उठाने होंगे।

उन्होंने डोर नॉक अभियान की भी समीक्षा की। कहा कि अधिकारी उपभोक्ताओं की सुनें, उनकी समस्याओं का निराकरण करें। बकायेदार उपभोक्ताओं की बिजली काटने की बजाय उनके दरवाजे खटखटाएं, उन्हें जरूरी सहूलियत दें। डिस्कनेक्शन कोई विकल्प नहीं है। हमें उपभोक्ताओं से जुड़ना होगा, इसके लिए स्वयं से ईमानदार प्रयास करने की आवश्यकता है।

बताया कि हमने महत्वाकांक्षी योजना शुरू की है। लाइन लॉस 15% से नीचे लाओ और 24 घंटे बिजली पाओ। ऐसे सभी क्षेत्रों के उपभोक्ताओं को हम वीआईपी स्टेटस दे रहे हैं। उनकी समस्याओं का निस्तारण अविलंब होगा। वहां मांग के अनुरूप संसाधन भी बढ़ाये जाएंगे। यह भी कहा कि हमारा मूलमंत्र ‘उपभोक्ता देवो भवः’ का है। बिजली बाधित होने की दशा में 1912 आई शिकायत के निस्तारण का समय न्यूनतम किया जाए। इसके लिए जो भी जरूरी उपाय हैं, पूरे प्रदेश में लागू हों।

ऊर्जा मंत्री अपने सरकारी आवास से साइकिल से मध्यांचल पहुंचे थे। कहा कि वे स्वयं लखनऊ आवास से अपने शक्ति भवन कार्यालय जाने के लिये नियमित रूप से साइकिल का प्रयोग कर रहे हैं। विद्युत विभाग के कार्मिक व आमजन भी अपने बच्चों के बेहतर स्वास्थ्य व पर्यावरण के लिए 5 किलोमीटर की परिधि तक स्थित कार्यकाल या व्यावसायिक प्रतिष्ठान जाने के लिए साइकिल प्रयोग करें।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।