लखीमपुर खीरी अर्नव गोस्वामी प्रकरण को लेकर ग्रामीण पत्रकार एसोसिएशन ने दिया ज्ञापन।
November 15th, 2020 | Post by :- | 119 Views

लखीमपुर खीरी (पवन दीक्षित)मितौली खीरी ग्रामीण पत्रकार एसोसिएशन उत्तर प्रदेश इकाई जनपद लखीमपुर खीरी के तत्वाधान में महामहिम राष्ट्रपति भारत सरकार नई दिल्ली द्वारा उप जिलाधिकारी मितौली को ग्रामीण पत्रकार एसोसिएशन उत्तर प्रदेश रिपब्लिक मीडिया नेटवर्क के प्रधान संपादक के खिलाफ महाराष्ट्र सरकार द्वारा दंडात्मक कार्रवाई किए जाने को लेकर लोकतांत्रिक अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता पर करारा प्रहार किया गया है व गोस्वामी को तत्काल रिहाई की मांग करते हुए ग्रामीण पत्रकार एसोसिएशन ने उपजिलाधिकारी को एक ज्ञापन सौंपा गया।

ग्रामीण पत्रकार एसोसिएशन जनपद इकाई लखीमपुर के जिला अध्यक्ष अखिलेश कुमार मिश्र की अगुवाई में ज्ञापन उप जिलाधिकारी मितौली को सौंपा गया जिसमें ग्रामीण पत्रकार एसोसिएशन उत्तर प्रदेश रिपब्लिक मीडिया नेटवर्क के प्रधान संपादक अर्बन गोस्वामी को सुबह उनके आवास पर महाराष्ट्र सरकार के इसारे पर पुलिस प्रशासन उनके साथ अभद्र व्यवहार करते हुए उन्हें गिरफ्तार किए जाने की घटना को दंडात्मक कार्रवाई किया जाना तथा लोकतांत्रिक अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता पर करारा प्रहार किये जाना की घोर निंदा करते हुए गोस्वामी कोई तत्काल रिहाई की जाने की मांग की गई है तथा इस संबंध में महाराष्ट्र सरकार से न्याय संगत कार्रवाई किए जाने व मनोज गोस्वामी को तत्काल रिहा किए जाने तथा पत्रकार सम्मान की रक्षा व उनकी सुरक्षा किए जाने हेतु समुचित सशक्त कदम उठाया जाने हेतु ज्ञापन में निर्देशित किया गया है तथा उत्तर प्रदेश सरकार को भी समुचित कदम उठाने हेतु निर्देशित करने की अनुकंपा करें ।

इस अवसर पर ग्रामीण पत्रकार एसोसिएशन उत्तर प्रदेश जिला लखीमपुर खीरी के अध्यक्ष अखिलेश मिश्र, वरिष्ठ पत्रकार सुरेश कुमार शुक्ल, रमेश चंद्र शुक्ल ,एसपी सिंह, राजीव दीक्षित ,रामचंद्र मंगलेश ,हिमांशु त्रिवेदी ,दलविंदर सिंह, आशीष शुक्ल, मयंक त्रिवेदी, सुनील तिवारी ,प्रदीप गुप्त,प्रहलाद रस्तोगी ,पंकज अवस्थी, संजय यादव ,प्रांशू मिश्र, सिकंदर शाह, रोहिताश दीक्षित, मुदित दीक्षित, अविनाश सिंह, राजेश दीक्षित, लालता प्रसाद राठौर ,सचिन पांडे फतेहपुर, धर्मेंद्र कुमार मिश्र, संजय कांत मिश्र, अभिषेक दिक्षित, सहित समस्त पत्रकार ज्ञापन के समय मौजूद रहे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।