पंजाब का व्यापार ,कृषि की जरूरतों के नुकसान के लिए केंद्र सरकार जिम्मेदार :किसान जत्थेबंदी ।
November 8th, 2020 | Post by :- | 285 Views

पंजाब का व्यापार ,कृषि की जरूरतों के नुकसान के लिए केंद्र सरकार जिम्मेदार :किसान जत्थेबंदी ।
रेल रोको आंदोलन 46 वें दिन में दाखिल
जंडियाला गुरु कुलजीत सिंह
किसान मज़दूर सँघर्ष कमेटी पंजाब का रेल रोको आंदोलन आज 46 वें दिन में दाखिल हो गया ।किसान जत्थेबंदी द्वारा दिवाली वाले दिन सभी पंजाब निवासियों को अपने घरों ,दुकानों ,वाहनों और दफ्तरों में काले झंडे लगाकर केंद्र सरकार द्वारा पास किये गए कृषि कानूनों का विरोध करने और किसान मज़दूर आंदोलन का समर्थन करने की अपील की ।रेल रोको आंदोलन को संबोधित करते हुए सरवन सिंह पंधेर ,और सविंदर सिंह चुताला ने कहा कि मोदी सरकार सिर्फ मीडिया में बातचीत करने के लिए तैयार होती है ।जबकि जो उनकी बातचीत करने के लिए जो माहौल होना चाहिए वह उसको खराब करते हैं। केंद्रीय कृषि मंत्री तोमर कहते हैं कि किसी को कोई बात समझनी है तो आ जाओ ।जबकि ऑर्डिनेंस को वापिस करने की चर्चा हो इसको बड़ी चालाकी के साथ वह खारिज कर रहें हैं ।
किसान नेताओं ने कहा कि इस समय पंजाब का कारोबार ,जरूरी वस्तुओं और कृषि से सबंधित समान यदि कोई तबाह करने चाहता है तो वह केंद्र सरकार है।इसके इलावा उन्होंने ने धान की पराली जलाने के मामलों को रद्द करने औऱ पंजाब सरकार को मानी हुई मांगों को तुरन्त लागू करने को कहा ।इस मौके पर कुलदीप सिंह बेगोवाल ,कश्मीर सिंह फत्ताकुल्ला ,परमजीत सिंह ,जगमोहनदीप सिंह,निशान सिंह ,गुरजीत सिंह ,तरसेम सिंह ,हरजीत सिंह ,हरबंस सिंह ,सरबजीत सिंह ,गुरदेव सिंह ,बबलू सैनी ,गुरदीप सिंह चीमा ,काला सिंह ,और शरण गिल हाज़िर थे ।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।