पापा की परी ने उनके सपनों को लगाए पंख
November 7th, 2020 | Post by :- | 362 Views

बिलासपुर के अमरपुर गांव की आंकना गर्ग ने अपने पापा के डॉक्टर बनने के सपने को पूरा तो किया लेकिन वह अपनी बेटी को इस रूप में देख ना सके

परिंदों को मंजिल मिलेगी यक़ीनन ये फैले हुए उनके पर बोलते हैं
अक्सर वो लोग खामोश रहते हैं ज़माने में जिनके हुनर बोलते हैं
लोकहित एक्सप्रेस (हिमाचल):- यह संघर्ष भरी कहानी है बिलासपुर जिला के अमरपुर गांव की डॉ आंकना गर्ग की जिसे उसके पापा प्यार से लवली बुलाते थे! आंकना का जन्म सन 1991 में बिलासपुर जिला के अमरपुर गांव में एक गरीब परिवार में हुआ था आंकना को बचपन से ही मॉडलिंग और एक्टिंग का शौक था लेकिन उसके पापा उसे डॉक्टर बनाना चाहते थे ! उनके पापा का नाम ज्ञानेंद्र चंद गर्ग था जो पीडब्ल्यूडी में काम करते थे ज्ञानेंद्र चंद जी की 5 बेटियां थी तथा सबसे छोटी बेटी जिसे वो प्यार से लवली बुलाते थे उनका सपना था कि वह अपनी बेटी को डॉक्टर बनते देखें आंकना कि स्कूली पढ़ाई उनके ही गांव के सरकारी स्कूल अमरपुर में हुई आंकना बचपन से ही पढ़ने में होशियार थी अतः उनके पिता ने मैट्रिक के बाद सीनियर सेकेंडरी स्कूल मिनर्वा घुमारवीं में दाखिल करवा दिया हालांकि एक साधारण सी पीडब्ल्यूडी डिपार्टमेंट में नौकरी करने वाले के लिए पांच बेटियों का पढ़ाई अथवा शादियों का खर्च कर पाना आसान नहीं था लेकिन ज्ञानेंद्र चंद गर्ग ने जैसे तैसे खुद तंग कर सभी बेटियों को उच्च शिक्षा ग्रहण करवाई !
प्लस टू पास करने के बाद अब बारी थी पिता के डॉक्टर बनने के सपने को पूरा करने की लेकिन इससे पहले की आंकना डॉक्टर बन पाती उनके पिता अपने सपने को आंखों में लिए ही इस दुनिया से अलविदा कर गए ! अपनी रिटायरमेंट के महज 15 दिन पहले ही एक दुर्घटना में वह इस दुनिया को छोड़ कर चले गए परिवार पर तो मानो पहाड़ सा टूट पड़ा पीडब्ल्यूडी की एक छोटी सी नौकरी की पेंशन से घर का गुजारा कर पाना अब और भी कठिन हो गया था ऐसे में उनके दोनों मामा ने बहुत सहायता की बड़े मामा सीताराम शर्मा जो रिटायर्ड हेड मास्टर थे ने आंकना को आगे पढ़ाने का जिम्मा उठाया!
क्योंकि घर का खर्च चलाना था इसलिए बड़ी बहन नम्रता गर्ग ने प्राइवेट स्कूल में नौकरी करने का मन बना लिया जैसे तैसे घर का खर्च चलने लगा प्लस टू पास करने के बाद स्कॉलरशिप अथवा मामा जी के सहयोग से आंकना ने BPT डिग्री करने के लिए देहरादून में दाखिला ले लिया ! 4 साल की डिग्री पूरी करने के बाद आंकना ने मास्टर डिग्री करने के लिए पटियाला यूनिवर्सिटी में MPT न्यूरो की डिग्री पूरी की ! आज आंकना पेशे से एक न्यूरो फिजियोथैरेपिस्ट है तथा इसके साथ ही उनकी इसी विषय पर पांच पुस्तकें भी प्रकाशित हो चुकी हैं ! जिनमें से उनकी कुछ चर्चित पुस्तकें :-
• Traumatic Brain Injury
• Horomones and its effect on body
• vertical vestibular stimulation
in CP children
हैं !
मॉडलिंग और एक्टिंग लाइन में शुरू से ही उसकी रूचि थी साथ ही लोग उसकी वेशभूषा व व्यवहार को देखकर उसे अक्सर अपना कैरियर फिल्म लाइन में आजमाने को कहते थे ! वर्ष 2019 में ही उन्हें इस इंडस्ट्री में अपना भाग्य आजमाने का मौका मिला और मिस फेस ऑफ यूनिवर्स इंडिया का खिताब अपने नाम कर लिया ! खिताब जीतने के बाद उन्हें कई जगह से ऑफिस मिलने लगे हैं, लॉकडाउन के दौरान भी उन्होंने कई ऑनलाइन कंपटीशन में भाग लिया तथा अवार्ड जीते !
वर्ष 2020 में ही इन्हें मिस्टर एंड मिसेज नॉर्थ इंडिया में जज बनने का अवसर मिला ! आने वाले वक्त में डॉ आंकना को आप वीडियो सांग्स, टीवी सीरियल, वेब सीरीज, और मूवी में देख सकेंगे !

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।