भारत की एकता एवं अखंडता के शिल्पी लौह पुरूष सरदार बल्लभ भाई पटेल की जयन्ती पर किया नमन। भारत को विश्व की बड़ी ताकत बनाने के लिए एकजुट होकर काम करने की जरूरत– गृह मंत्री अनिल विज।
October 31st, 2020 | Post by :- | 165 Views

अम्बाला,(अशोक शर्मा)
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज सरदार वल्लभ भाई पटेल की जयन्ती के अवसर पर गुजरात में स्टैच्यू ऑफ यूनिटी से राष्ट्रीय एकता दिवस पर देशवासियों को सम्बोधित करते हुए कहा कि हमारी विविधता की है हमारा आस्तिव– इस विविधिता में एकता को जीवंत रखना ही राष्ट्र के प्रति हमारा कत्र्तव्य हैं। हमें सदैव यह याद रखना है कि हम एक हैं तो अपराजय हैं। श्री विज ने कहा कि प्रधानमंत्री की इस बात का सभी देशवासी ध्यान रखें और देश की प्रगति में अपना योगदान दें। अम्बाला, 31 अक्तूबर:-
हरियाणा के गृह, शहरी स्थानीय निकाय एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने प्रदेशवासियों को महर्षि वाल्मिकी जयन्ती व हरियाणा दिवस की शुभकामनाएं दी है। इसके साथ ही उन्होनें भारत की एकता एवं ,अखंडता के पराक्रमी योद्धा और शिल्पी लौह पुरूष सरदार बल्लभ भाई पटेल की जयन्ती पर उन्हें शत-शत नमन करते हुए कहा कि देश की आजादी के बाद रियासतों के रूप में अलग-अलग टुकड़ों में बंटे हुए भारत को एकसूत्र में पिराने जैसा साहसिक और कठिन कार्य सरदार वल्लभ भाई पटेल की दुरदर्शिता से ही संभव हो पाया था। उन्होंने कहा कि आज के दिन पूरे भारत के लिए एक महान दिन है क्योंकि आज के ही दिन सन 1875 में सरदार वल्लभ भाई पटेल का जन्म हुआ था। जिन्होने स्वतंत्रता संग्राम में लंबा संघर्ष करने के बाद देश को एकता के सूत्र में पिरोने के लिए सबसे महत्वपूर्ण योगदान दिया था। उन्होनें कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज सरदार वल्लभ भाई पटेल की जयन्ती के अवसर पर गुजरात में स्टैच्यू ऑफ यूनिटी से राष्ट्रीय एकता दिवस पर देशवासियों को सम्बोधित करते हुए कहा कि हमारी विविधता की हमारा आस्तिव है। इस विविधिता में एकता को जीवंत रखना ही राष्ट्र के प्रति हमारा कत्र्तव्य हैं। हमें सदैव यह याद रखना है कि हम एक हैं तो अपराजय हैं। श्री विज ने कहा कि प्रधानमंत्री की इस बात का सभी देशवासी ध्यान रखें और देश की प्रगति में अपना योगदान दें।
श्री विज ने भगवान महर्षि वाल्मिकी के प्रकट दिवस की बधाई देते हुए कहा है कि महर्षि वाल्मिकी ने रामायण के माध्यम से भगवान राम के जीवन संबधी सभी घटनाओं का वर्णन किया है। उन्होंने ऐसा वर्णन किया है कि मानो एक-एक घटना के वह स्वयं साक्षी रहे हों। भगवान महर्षि वाल्मिकी ने यही शिक्षा दी है कि हमें कुरूतियों को खत्म करने के लिए मिलकर पूरी ताकत लगानी चाहिए। हमें महर्षि वाल्मिकी की शिक्षाओं का अनुसरण करना चाहिए और जब सारा संसार उनके शास्त्र व उनकी शिक्षाओं का अनुसरण कर लेगा तो निसंदेह दुनिया की सभी बुराईयों को खत्म किया जा सकता है।
गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि आजादी के बाद देश 560 से अधिक छोटी-बड़ी रियासतों में बंटा हुआ था और इन रियासतों को एक राष्ट्र के सूत्र में पिरोने जैसा कार्य सरदार वल्लभ भाई पटेल ने ही किया था। सरदार वल्लभ भाई पटेल ने पूरा जीवन देश की एकता व विकास के लिए समर्पित किया है। सरदार पटेल के जीवन आदर्शों से शिक्षा लेकर सभी को भारत की शक्ति बढ़ाने, देश और समाज के उत्थान में अपना सहयोग करना होगा और यदि सभी भारतवासी एकजूट होकर प्रयास करें तो विश्व की कोई भी शक्ति भारत को विश्व शक्ति बनने से नहीं रोक सकती। सरदार वल्लभ भाई पटेल द्वारा किये गये कार्यों से उन्हें लौह पुरूष के नाम से भी जाना जाता है। सरदार वल्लभ भाई पटेल की गुजरात में नर्मदा नदी के किनारे पर विश्व की सबसे उंची प्रतिमा भी स्थापित की गई है।
गृह, स्थानीय निकाय एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने कहा कि एक नवम्बर 1966 को हरियाणा प्रदेश का गठन हुआ था और अपने गठन के बाद कई उतार-चढ़ाव देखने के बाद आज हरियाणा प्रदेश देश का अग्रणी राज्य हैं और दूसरे प्रदेशों के सामने एक मिसाल बनकर उभरा हैं। भाजपा सरकार के कार्यकाल में हरियाणा प्रदेश ने विकास की नई बूलंदियों को छूआ है तथा पिछले एक वर्ष में भाजपा-जजपा की गठबंधन सरकार के कार्यकाल में सुशासन से जनसेवा का कार्यकाल बखूबी पूरा किया हैं। इस एक वर्ष में दूरदर्शिता, पारदर्शिता और दृढ संकल्प के साथ जहां विकास की नई गाथा लिखने का काम किया गया है वहंी कोरोना जैसी वैश्विक महामारी के प्रति भी लोगों को जागरूक कर इसको हराने का काम किया गया हैं।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।