कृषि एवं कल्याण विभाग की ओर से डिकम्पोजर तकनीक से फसल अवशेष डिस्पोज करने की दी जानकारी
October 29th, 2020 | Post by :- | 49 Views

अंबाला , बराड़ा ( गुरप्रीत सिंह मुल्तानी )
गांव अधोया में कृषि एवं कल्याण विभाग की ओर से फसल अवशेष प्रबंधन पर एक दिवसीय प्रशिक्षण शिविर का आयोजन किया गया। जिसमें फसलों के अवशेषों को मशीनों द्वारा मिट्टी में मिलाने के बारे में बताया गया। हरियाणा कृषि विश्व विद्यालय हिसार के माईक्रोबायोलोजिस्ट बलजीत सिंह जगदीश सिंह व राकेश कुमार ने डिकम्पोजर तकनीक से फसल अवशेषों को डिस्पोज करने की किसानों को जानकारी दी। इसके साथ ही किसानों की समस्याओं का समाधान बताया।

उन्होंने बताया कि कृषि विशेषज्ञ इस पर जोर दे रहे हैं कि कम लागत पर डिकम्पोजर तकनीक से फसल अवशेषों को मिट्टी में मिलाकर प्रबंधन किया जा सके। जिससे जैविक खाद की पूर्ति भी हो सके। खण्ड कृषि अधिकारी डा ओमप्रकाश ने सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनाओं के बारे में बताया। कृषि विकास अधिकारी डा सुखबीर नरवाल ने किसानों को मशीनों द्वारा फसल अवशेष प्रबंधन व मशीनों पर सब्सिडी प्राप्त करने के बारे में बताया। ललित शर्मा ने जैविक खेती के बारे में जानकारी दी। इसके साथ ही हरियाणा कृषि विश्व विद्यालय के वैज्ञानिको ने अधोई गांव में डिकम्पोजर तकनीक का ट्रायल किया।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।