कालीरमन को आमरण अनशन पर बैठे हुए पूरे 14 दिन हो गए हैं । राजकुमार का स्वास्थ्य लगातार बिगड़ता जा रहा, एक बार फिर हॉस्पिटल में दाखिल करवाया
September 14th, 2019 | Post by :- | 133 Views

राजकुमार कालीरमन को आमरण अनशन पर बैठे हुए पूरे 14 दिन हो गए हैं । राजकुमार का स्वास्थ्य लगातार बिगड़ता जा रहा है। जिनको आज एक बार फिर हॉस्पिटल में दाखिल करवाया गया । प्रदेश के राजा मनोहर लाल खट्टर का उसकी पार्टी हरियाणा भाजपा का गेस्ट टीचर को नियमित करना चुनावी वादा है।

लेकिन वह अभी तक अधूरा है मुख्यमंत्री 17 फरवरी 2018 को पूरा वेतन देने की भी घोषणा कर चुके हैं । पर वह भी अभी अधूरी है । मुख्यमंत्री बार-बार मीडिया में यह कह रहे हैं कि हमने गेस्ट टीचर को नियमित कर दिया। जबकि ये कोरा झूठ है। दिनांक 12/09/2019 से गेस्ट टीचर जब अपनी मांगों को लेकर करनाल के लघु सचिवालय के पास बैठे थे तो 13/09/2019 को उपायुक्त करनाल यह संदेश लेकर आए की आप यहां लघु सचिवालय से उठ जाए और आपकी मांगों को पूरा किया जाएगा । उपायुक्त करनाल बाद में गेस्ट टीचर को मुख्यमंत्री का समय देने गेस्ट टीचर के धरना स्थल पर आए और यह कह कर गए की 14/09/2019 को गेस्ट टीचर की मीटिंग मुख्यमंत्री से करवाकर गेस्ट टीचर की मांगों को पूरा किया जाएगा। 14/9/2019 का पूरा दिन बीतने के बाद भी उपायुक्त के अनुसार मुख्यमंत्री से मिलने का कोई समय नहीं आया है।

गेस्ट टीचर ने सरकार की बार बार की वादा खिलाफी के विरोध में आज 14/09/2019 को करनाल के लघु सचिवालय पर जोरदार प्रदर्शन किया गया। मैना यादव ने सरकार को चेतावनी देते हुए कहा कि सरकार समय रहते गेस्ट टीचर की मांगों को पूरा करे। यदि राज कुमार कालीरमन को कुछ हो गया तो उसकी पूरी जिममेदारी सरकार की होगी। राज कुमार, मैना यादव, पारस शर्मा ने सरकार को चेताते हुए कहा कि गेस्ट टीचर अपनी मांगों के लिए किसी भी हद तक जा सकते हैं, इसलिए समय रहते सरकार गेस्ट टीचर को पक्का करे।

इस अवसर पर राजेश मलिक, सुभाष खटाना, हरदीप गिल, राधा कृष्ण, कर्मवीर जागलान, सतीश शर्मा, नरेंद्र संधू, सीमा ठाकुर, अनीता, नवनीत, इंदु मलिक सहित हज़ारों कि संख्या में गेस्ट टीचर उपस्थित थे।

 

 

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।