बाढ़ के हालात बहे दर्जनों घर 8 दुकान घरो में पानी ही पानी, राहत के नाम पर नही कोई सुविधा
September 14th, 2019 | Post by :- | 121 Views

बांसवाड़ा  (गौरव वैष्णव )48 घण्टे में भारी बारिस नदी खतरे के निशान से 7 मीटर ऊपर बह रही वही क्षेत्र में बाढ़ जे हालात,दर्जनों मकान,8 किराना की दुकान बह गई सैलाब में।बांसवाड़ा में बीते 48 घण्टे में भारी बारिश के चलते मध्यप्रदेश से आरहा पानी के सैलाब से नदी खतरे के निशान से 7 मीटर ऊपर बह रही है महि बैकवाटर क्षेत्र के डूब क्षेत्र में बाढ़ के हालात बन गए है वहीं छायन बड़ी गाँव मे नदी में आया सैलाब के चलते गाव के 5 से 7 मकान पानी मे बह गए वही रतलाम मार्ग बाधित हो चुका नेगडिया पुल के पास भी बने मकान पानी मे किश्ती की तरह बह गए  वही क्षेत्र में बाढ़ के हालात है वही बूंदन नदी के पास आठ किराना की दुकान भी बह चुकी है माही बैकवाटर क्षेत्र में बाढ़ के हालात हर लोग खुद अपनी सुरक्षा में जुटे हैं। लेकिन प्रसासन की ओर से जनता को कोई मदद नही हालात के को देख तत्काल हेलीकॉप्टर के जरिये सर्व ओर गरीब लोगों के राहत बचाव की जरूरत है।बांसवाड़ा जिले में भारी बारिश कई वर्षों के बाद बांसवाड़ा जिला बना टापू बारिश के चलते हालत बिगड़े पूरे जिले में नदी नाले उफान पर कई गांव में पानी घुसा 1977 में मैं बाढ़ आ चुकी है और 2004 गणपति विसर्जन के दौरान भारी बारिश के चलते बाढ़ हालत हुए थे लगातार दो दिन के बारिश के बाद एक बार फिर शहर में बाढ़ के हालात एक तरह से टापू बन गया है सभी सड़क मार्ग बंद होने से लोगों में भारी असुविधा का सामना करना पड़ रहा है। प्रशासन सभी शिक्षण संस्थाएं आज का अवकाश घोषित प्रातः 10:00 बजे बात किया गया देखा जाए तो प्रशासन के अधिकारी तहसीलदारों को भी आज ही आदेश जारी हुए हैं। प्रशासन बारिश के चलते कितना लेट है ।इसी से पता चलता है माही बांध के गेट 8 मीटर तक माही बांध बनने के बाद पहली बार खुलने के समाचार आ रहे हैं माही बांध के आसपास माही डैम मूंगड़ा गांव में हालत खराब है। मध्यप्रदेश में भारी बारिश जारी है। राजस्थान के कोटा जिले में बाढ़ के हालात हो चुके हैं। इधर नापला में एक टैम्पो एक किलोमीटर तक पानी के बहाव में बह गया वही चालक भी गम्भीर रूप से घायल हो गया।वही घोड़ी तेजपुर के भाटड़ा पाड़ा गाँव बाढ़ आने से एक घर के 9 सदस्य पेड़ पर चढ़कर अपनी जान बचाई । बाद में स्थानीय पुलिस ने अपनी जान जोखिम में डालकर 7 बच्चे एक महिला,पुरुष को रेक्सक्यू कर बाहर निकाला,5 बकरी दो बैल को भी सुरक्षित निकाला जबकि घर का सारा
सामान ओर तीन बकरी पानी मे बह गए।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।