किसानों की आमदन दुगनी करने ,तीन कृषि कानून और कृषि विकास करने के प्रधानमंत्री के दावे होंगे असफ़ल :पंधेर ।
October 17th, 2020 | Post by :- | 133 Views
किसान मज़दूर संघर्ष कमेटी पंजाब द्वारा रेल रोको आंदोलन 24 वें दिन में दाखिल ,21 अक्तूबर तक रेल रोको आंदोलन में की बढ़ोतरी ,
किसानों कीआमदन दुगनी करने ,तीन कृषि कानून और कृषि के विकास करने के प्रधानमंत्री के दावे होंगे असफ़ल ।

जंडियाला गुरु कुलजीत सिंह
किसान मज़दूर सँघर्ष कमेटी पंजाब की राज्य कमेटी की मीटिंग में लंबी चर्चा करने के बाद रेल रोको आंदोलन में 21 अक्तूबर तक बढ़ोतरी की गई है ।आज रेल रोको आंदोलन 24 वें दिन में दाखिल हो गया है ।
आज रेलवे ट्रैक देवीदासपुरा नज़दीक जंडियाला गुरु में औरतों द्वारा बेलन आंदोलन एक्शन केसरी चुनरी लेकर किया गया औऱ किसान विरोधी तीन कृषि ऑर्डिनेंस वापिस लेने की मांग की गई ।राज्य सचिव सरवन सिंह पंधेर ,सविंदर सिंह चुताला ,गुरबचन सिंह चब्बा ,लखविंदर सिंह वरियाम ने कहा कि प्रधानमंत्री ने यह दावा किया कि कृषि कानून कृषि का विस्तार करेंगे ।इसके साथ किसानों की आमदन दुगनी होगी परंतु इस बारे में केंद्र सरकार ने हकीकत में कोई रोड मैप नही है जिससे उनका दावा सही साबित ही ।किसान नेताओं ने कहा कि यह कानून कृषि विस्तार का नही बल्कि विनाश कर किसानों की जमीनों को अलग कर मंडी पर बाज़ार पर अंबानी ,अडानी ,कॉरपोरेट का कब्जा कराने के लिए सीधा रास्ता कर रहें हैं।
एम एस पी की गरंटी के बारे मे बोलना और ए पी एम सी की मज़बूती के दावे असल मे सच के विपरीत हैं ।तीनों कृषि कानूनों में यह साफ लिखा है कि ए पी एम सी एक्ट केंद्रीय कानून के अधीन होगा। इस समय धान की सरकारी खरीद  पंजाब और हरियाणा में 1888 रुपये प्रति क्विंटल है। जबकि अन्य राज्यों में 1200 से 1300 रुपए प्रति क्विंटल बिक रहा है ।एम एस पी के सच के दावे अन्य राज्यो में क्यों साबित नही हो रहे।
नेताओं ने कहा कि 19 अक्तूबर को विधानसभा के घेराव का समर्थन करते हैं। भाजपा के नेताओं को आर एस एस के एजेंडे के तहत विवादग्रस्त बयान नही  देने  चाहिए ।
किसान नेताओं ने कहा कि किसान मज़दूर लहर एकजुट होकर जीत तक जारी रहेगी। इसके इलावा मांग की गई कि स्वामीनाथन कमीशन की रिपोर्ट लागू कर फ़सलो के भाव 50%मुनाफ़ा जोड़कर घोषित किये जायें ।इस मौके पर रणबीर सिंह डुग्गरी ,बख्शीश सिंह सुल्तानी ,सुखदेव सिंह ,सुखविंदर सिंह ,गुरप्रीत सिंह खानपुर ,कुलजीत सिंह ,अमरीक सिंह ,निर्मल सिंह ,गुरप्रीत सिंह गोपी ,सूबेदार रछपाल सिंह भरथ ,गुरप्रताप सिंह खजाला ,अशोक वर्धन ,दलबीर सिंह काहलों ,हरिंदर सिंह ,कुलदीप सिंह बेगोवाल ,जगमोहन सिंह नडाला ,अमरदीप सिंह गोपी ,मंगजीत सिंह सिधवां ,बलकार सिंह देवीदासपुरा ,और मनजीत सिंह वडाला जौहल हाजिर थे ।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।