राशन ब्लैक करने पर की डिपो होल्डर पर कार्रवाई की मांग
October 12th, 2020 | Post by :- | 250 Views
डिपो होल्डर बोला सभी आरोप बेबुनियाद, सच्चाई कुछ ओर
कालका (रोहित शर्मा) । कालका निवासी एक व्यक्ति ने डिपो होल्डर पर प्रधानमंत्री योजना के तहत मुफ्त राशन में भेजी गई गेहूं को ब्लैक करने का आरोप लगाया है। जिसकी शिकायत उन्होने खाद्य एवं पूर्ति विभाग कालका सहित, राष्ट्रपति,राज्यपाल, मुख्यमंत्री हरियाणा सहित अन्य अ‌धिकारीयों को दी है। शिकायत पत्र में गिरीश मोहन सूद ने बताया कि वार्ड नम्बर पन्द्रह कालका जिला पंचकूला में कई सालो से एक डिपू होल्डर द्वारा राशन का डिपू चलाया जा रहा है। बताया कि उक्त डिपो होल्डर टिपरा मेंं रहता है । बताया कि कुछ वर्षो से राशन आन लाइन हो गया था, जिससे की कार्ड धारक किसी भी डिपो से राशन ले सकता था। इस बार कोरोना वायरस के कारण प्रधानमंत्री ने मार्च,अप्रैल व मई-2020 में राशन कार्ड धारकों को महिने में दो बार मुफ्त गेहूूं दाल चना देने की घोषणा की तथा हर डिपो में राशन कार्ड धारको की संख्या के अनुसार पूरा राशन भेजा गया।
उन्होने बताया कि कोरोना वायरस न फैले इसके लिए सरकार ने बायोमैट्रिक मशीन में अंगूठा न लगाने की कार्डधारको को छुट दे दी तथा बायोमैट्रिक मशीन में इस प्रकार की एडजस्टमेंट कर दी कि कार्डधारक का कार्ड नंबर मशीन में डालकर डिपो होल्डर नॉमिनी के अंगूठे से ही राशन दिया जा रहा था।
उन्होने आरोप लगाते हुए कहा कि उक्त डिपो होल्डर ने जो राशन कार्ड धारक राशन लेने आ गए उनको राशन दे दिया गया बाकी बचे राशन को फर्जी अंगूठा लगवा कर तथा जो पिछले दो-तीन सालों से राशन लेने नहीं आ रहे थे उनके नाम पर भी फर्जी अंगूठा लगाकर बचा राशन ब्लैक कर दिया जिस कारण बायोमेट्रिक मशीन में हर महीने का राशन का स्टॉक शून्य दिखाया जाता रहा। इसके बाद जून-जुलाई व अगस्त में हर महीने गेहूं का स्टॉक बकाया निकल रहा है। कहा कि उपरोक्त डिपू होल्डर ने कोरोना वायरस का नाजायज फायदा उठाकर सरकारी राशन ब्लैक में बेचा, जिन लोगों को उस दौरान गेहूं नहीं दिया गया उनके मन में सरकार के प्रति रोष फैलता गया जबकि सरकार द्वारा पूरा गेहूं भेजा गया था। उन्होंने उपरोक्त डिपू होल्डर पर सख्त कार्यवाही करने की मांग की है।
वहीं जब इस बारे में एएफएसओ बलजीत मलिक से बात की गई तो उन्होने कहा कि मामला संज्ञान में आ गया है जांच की जा रही है।
उधर डिपू होल्डर ने बताया कि उसपर लगाए गए सभी आरोप झूठे हैं, ऐसा कुछ भी नही हुआ है। उन्हें जानबूझकर परेशान करने के लिए यह सब किया जा रहा है। बताया कि मामला कुछ और है। कहा की जांच में सब सामने आ जाएगा।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।