उमरशेद हत्याकांड में पुलिस ने आयशा के पिता जसवंत सिंह को किया सोहना से गिरफ्तार
September 13th, 2019 | Post by :- | 78 Views

हथीन।उमरशेद हत्या कांड में पुलिस ने बड़ी कामयाबी हासिल की है। मामले की जांच कर रहे एवीटी स्टाफ इंचार्ज राकेश ने मृतक की पत्नी आयशा के पिता मंगलेश्वर गुजर माजरा(बावल) निवासी जसवंत सिंह को सोहना से गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार किए गए आरोपित को पुलिस ने अदालत में पेश किया, जहां से उसे पांच दिन की पुलिस रिमांड पर पुलिस हिरासत में सौंप दिया है। वहीं दूसरी ओर पुलिस ने आयशा को अदालत में पेश कर 164 के ब्यान दर्ज कराए हैं। आरोपित के गिरफ्तार होने के बाद हत्या के राज का पूरा पर्दाफाश होने की उम्मीद बढ़ गई है। पुलिस का मानना है कि हत्याकांड में कौन लोग शामिल थे, उनका जल्द खुलासा होगा। यह बात लगभग साफ है कि हत्याकांड के पीछे जसवंत का ही दिमाग था।

बता दें कि सात सितंबर को सुबह सात बजे मिठाका निवासी उमरशेद को बाइक पर बाजार जाते समय अज्ञात बाइक सवारों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी। पुलिस ने उमरशेद के पिता के ब्यान पर आयशा के पिता जसवंत सिंह के अलावा 11 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया था। पुलिस अधीक्षक नरेंद्र बिजरानिया ने इस मामले की जांच तेज तर्रार एवीटी स्टाफ इंचार्ज सहायक सब इंस्पेक्टर राकेश को सौंपी थी। जांच अधिकारी राकेश के अनुसार बृहस्पतिवार को उन्हें मुखबिर द्वारा सूचना मिली कि जसवंत सिंह सोहना बस अड्डे पर आया हुआ है। पुलिस ने टीम गठित कर बताए गए स्थान पर दबिश देकर एक व्यक्ति को पकड़ लिया। पूछताछ के दौरान उन्होंने अपना नाम जसवंत सिंह बताया। जांच अधिकारी के अनुसार प्रारंभिक पूछताछ में जसवंत सिंह ने उमरशेद हत्या कांड में अपनी संलिप्तता की बात कबूली है।

बताया गया है कि उमरशेद के साथ आयशा के चले जाने के बाद जसवंत सिंह काफी परेशान था। उन्होंने ही उमरशेद का ठिकाना लगाने की योजना बनाई। इसके लिए उन्होंने कई शुटरों से संपर्क साधा तथा उमरशेद को ठिकाने लगाने की बात की थी। जसवंत सिंह सेना से 2016 में सूबेदार के पद से सेवानिवृत हुआ था। जो जानकारी सामने आई हैं उनके अनुसार शुटरों ने इस काम के लिए किसी ओर को सुपारी दी। जिसकी जांच पुलिस कर रही है। सूत्रों की माने तो इसमें बड़े गैंग की आशंका जताई गई है। रिमांड पर लिए गए आरोपित से उस मोबाइल को भी बरामद किया जाना है जिस पर उमरशेद की हत्या की सूचना जसवंत को मिली थी। इसके अलावा पुलिस जसवंत सिंह द्वारा उपलब्ध कराई गई उस कार को भी कब्जे में लेगी जिससे उमरशेद की रैकी गई थी। जसवंत सिंह के पुलिस की गिरफ्त में आने से पुलिस हत्या कांड के काफी करीब पहुंच चुकी है।

जांच अधिकारी सहायक सब इंस्पेक्टर राकेश का कहना है कि पुलिस इस हत्याकांड में काफी हद तक तह तक पहुंच चुकी है। जिन लोगों ने हत्याकांड का अंजाम दिया है। उनकी जांच पड़ताल के लिए काम तेज गति से शुरू कर दिया गया है। जल्द ही मामले में असली हत्याआरोपितों को भी धरा जाएगा।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।