झूठी एफआईआर होने के विरोध में कर्मचारियों ने पुलिस व निगम प्रशासन के खिलाफ की नारेबाजी ।
September 25th, 2020 | Post by :- | 218 Views

अंबाला , बराड़ा ( गुरप्रीत सिंह मुल्तानी )

सब यूनिट बराड़ा एचएसईबी वर्कर्स यूनियन हेड ऑफिस भिवानी की एक गेट मीटिंग यूनिट सचिव राजकुमार सैहला की अध्यक्षता नेतृत्व में हुई । सब यूनिट प्रधान सतबीर सिंह देसवाल ने बताया कि गांव करधान में 30 मई को 10 वर्ष की एक बच्ची द्वारा सरिए की तारों को छूने से हुए हादसे में बच्ची की मौत होने से एरिया जेई और लाइनमैन की झूठी एफआईआर होने के विरोध में कर्मचारियों ने पुलिस प्रशासन और निगम प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की।

गौरतलब है कि इस हादसे के बाद बिजली बोर्ड प्रशासन ने कार्रवाई करते हुए तुरंत संबंधित जेई और लाइनमैन को निलंबित कर दिया था और मृत बच्ची के परिवार को ₹ 1लाख मुआवजा भी दिया था और बाद में जब केस की छानबीन की गई तो निगम के चीफ इलेक्ट्रिकल इंस्पेक्टर और दो xen की रिपोर्ट में गलती निगम की नहीं बल्कि पुलिया बनाने वाली अथॉरिटी की थी , जिन्होंने बिना निगम से परमिशन लिए 11KV line के नीचे पुलिया का निर्माण कर दिया था जिसकी वजह से बिजली की तारों और जमीन के बीच की दूरी कम हो गई थी और बच्ची की को निर्माणाधीन पुलिया में प्रयोग हो रहे सरिया के लगभग 10 फुट उठाकर बिजली के तारों में छू गया और यह हादसा हो गया जिसके लिए गलती न होते हुए भी बिजली बोर्ड के अधिकारी जेवर लाइनमैन की एफआईआर करने पर अड़े हुए हैं जबकि एफ आई आर बिन परमिशन लिए निर्माण करने वाली अथॉरिटी की करवानी चाहिए इसकी वजह से यूनियन आंदोलन करने के लिए बातें हुई है।

आंदोलन सब बब्याल में 21 सितंबर से शुरू हुआ और 24 सितंबर से अंबाला कैंट के अंतर्गत आने वाले छह सब यूनियनों में फैल गया। सब यूनिट प्रधान सतवीर सिंह ने बताया कि यदि अधिकारी अपनी मनमानी से बाज नहीं आए तो यूनियन किसी भी कार्रवाई से पीछे नहीं हटेगी इस अवसर पर सभी यूनिट सचिव भरत सिंह राणा, सुशील सिंगला, गोविंद, रणधीर सिंह, प्रेस प्रवक्ता प्रिंस बक्शी, मनिंदर कुमार आदि भारी संख्या में कर्मचारी ने भाग लिया।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।