चिकित्सा राज्यमंत्री डॉ0 सुभाष गर्ग ने कृषि अध्यादेश को काला क़ानून बताते इसे किसानों को बर्बाद करने की दिशा में केंद्र सरकार का एक कदम बताया है
September 20th, 2020 | Post by :- | 212 Views

भरतपुर। (शौकत अली)

 

राजस्थान के चिकित्सा राज्यमंत्री डॉ0 सुभाष गर्ग ने कृषि अध्यादेश को काला क़ानून बताते इसे किसानों को बर्बाद करने की दिशा में केंद्र सरकार का एक कदम बताया है। अपने निर्वाचन क्षेत्र के एक दिवसीय दौरे पर भरतपुर आये लोकदल कोटे के राज्यमंत्री ने कहा कि इस अध्यादेश से किसानों को फायदा होने की जगह देश मे अंतरराष्ट्रीय स्तर के बिचोलिये सक्रिय होकर किसानों की उपज का अपने मनमाफिक मूल्य तय करके उसे खरीदेंगे जिससे किसानों को उनकी उपज पर मिलने बाले मुनाफे पर विपरीत असर पड़ेगा। गर्ग ने कहा कि इस काले कानून का राजनैतिक दलों से ज्यादा किसान बिरोध कर रहे है लेकिन केंद्र सरकार के कानों पर जू तक नही रेंगी और अध्यादेश को राज्यसभा में पारित करा दिया गया। राज्यमंत्री ने बातचीत में हबाई अड्डो के साथ रेलबे के निजीकरण का जिक्र करते केंद्र सरकार पर बड़े पूंजीपतियों के हाथों में खेलने का आरोप भी लगाया और कहा कि ऐसी स्थिति में जब देश के 95 प्रतिशत किसान न तो ऑनलाइन ट्रेडिंग और न ही कमोडिटी एक्सचेंज के बारे में जानते हो तब देश मे किसानों की फसलों के ओने पौने दामो के लिए सटोरियों का सक्रिय होना लाजमी है जो कृषि प्रधान भारत की अर्थव्यवस्था के लिए बेहद घातक सिध्द होगा।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।