ओजोन परत संरक्षण दिवस पर बघेल धर्मशाला पर प्रकृति संरक्षण जागरूकता गोष्ठी कार्यक्रम का आयोजन|
September 17th, 2020 | Post by :- | 195 Views

पलवल (मुकेश कुमार हसनपुर) 17 सितंबर :- ओजोन परत संरक्षण दिवस पर बघेल धर्मशाला राजीव नगर में पर्यावरण सचेतक समिति द्वारा अमरुद, मौसमी एवं नीबू आदि के फल व् छायादार पौधे वितरण कर पर्यावरण संरक्षण के लिए शपथ लेकर प्रकृति संरक्षण जागरूकता गोष्ठी कार्यक्रम का आयोजन किया गया।

कार्यक्रम की अध्यक्षता श्री चंद पुजारी द्वारा की गयी एवं संचालन करते हुए पर्यावरण सचेतक समिति संयोजक आचार्य राम कुमार बघेल ने बताया कि ओजोन परत में छिद्र होने से पूरे विश्व पर खतरा बढ़ता जा रहा है। यह वायुमंडल का सबसे बाहरी आवरण है। भौगोलिक एवं ऐतिहासिक जानकारी से धरती पर जीवन के लिए बहुत संघर्ष करना पड़ा तब यह जीवन प्रकृति के फलस्वरूप हमको मिला है।

प्रकृति से छेड़छाड़, वनों की कटाई, जल दोहन, अवैध खनन, जीवों पर अत्याचार आदि अनेकों नियमविरुद्ध कार्य करने से प्रकृति में असंतुलन पैदा किया जा रहा है। अधिक से अधिक वृक्षारोपण, जल बचाओ जैसे कार्यों से हम प्रकृति की रक्षा कर सकते हैं। ओजोन पृथ्वी को सूर्य की हानिकारक परावैगनी किरणों से बचाकर हम सबकी रक्षा करती है। बिना ओजोन के पृथ्वी बिना छत के घर समान है।

औधोगिक गतिविधियों से बढ़ते प्रदूषण एवं हमारी घोर लापरवाही से हम इसको नुकसान पहुंचाने में लगे हुए हैं। इसकी रक्षा सम्पूर्ण जीव मंडल की रक्षा है। जल, जमीन और जड़ के बिना जीवन सम्भव नहीं है। पौधे लगाकर उनकी सम्पूर्ण देखभाल करें। फल एवं फूलों के पौधे थोड़ी जगह में भी लगाए जा सकते हैं। हमें प्रकृति के इन अनमोल उपहारों की रक्षा करनी चाहिए। इस अवसर पर समिति सदस्य एडवोकेट संजय, अमरपाल, डॉ0 विश्वास, विक्रम, नरेश, चंद्रपाल, गुलशन, महेश, धर्मचन्द वैद्य, देव लोकेश, गजेंद्र, ईश्वर, नितिन आदि ने विचार रखे एवं अन्य गणमान्य लोग मौजूद रहे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।