29 सितंबर को होने वाले राष्ट्रीय विरोध दिवस की तैयारी के लिए अग्रवाल धर्मशाला हसनपुर मे मीटिंग का आयोजन|
September 16th, 2020 | Post by :- | 155 Views

पलवल (मुकेश कुमार हसनपुर) 16 सितंबर :-  सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के आहवान पर 29 सितंबर को होने वाले राष्ट्रीय विरोध दिवस की तैयारी के लिए अग्रवाल धर्मशाला हसनपुर मे मीटिंग रखी गई जिसकी अध्यक्षता ब्लॉक प्रधान अनिल कुमार ने की व संचालन उप प्रधान अमरपाल ने किया। जिसमे जिला प्रधान राजेश शर्मा, जिला सचिव योगेश शर्मा व अन्य विभागों के पदाधिकारियों ने भाग लिया।

मीटिंग में कर्मचारियों को संबोधित करते हुए जिला प्रधान राजेश शर्मा व योगेश शर्मा जी ने कहा कि 14 से 25 सितंबर तक सरकार की जनविरोधी एवं कर्मचारी व मजदूर विरोधी नीतियों के आम जनता एंव कर्मचारियों पर पड़ने वाले प्रभावों की जानकारी देने के लिए जन संपर्क अभियान चलाया जा रहा है जिसके तहत सभी विभागों और खंडों में पदाधिकारियों की विस्तारित मीटिंग की जाएगी|

मीटिंग में 1983 पीटीआई की सेवा बहाली और बिजली कर्मचारियों व जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग को पंचायतों के अधीन करने की समस्याओं का समाधान करने की बजाय आंदोलन को कुचलने के लिए झुठे मुकदमे दर्ज करने की घोर निन्दा की और 13 सितंबर को सीएम सिटी करनाल में बर्खास्त पीटीआई के परिवार सहित  किए गए प्रर्दशन में जो फैसले लिए गए हैं उनका का पुरजोर समर्थन करने का फैसला लिया गया।ऑन लाइन पालिसी के नाम पर विभागों के 60-70 प्रतिशत कर्मचारियों को हर साल तब्दील करने की आलोचना की।

उन्होंने कहा कि बदली केवल स्वेच्छा एवं आवेदन के आधार पर या शिकायत आने और उसकी जांच में दोषी पाए जाने पर ही करने की मांग की। उन्होंने कहा कि आईटीआई में ठेकेदार व प्रिंसिपल इंपलायर की मिलीभगत से किए जा रहे आर्थिक शोषण व नौकरी से निकालने के खिलाफ 27 सितंबर को आईटीआई ठेका कर्मचारी यूनियन द्वारा विभाग के मंत्री के फरीदाबाद आवास पर प्रदर्शन करेंगे, जिसका एस.के.एस पुरजोर समर्थन करेगा। उन्होंने हरियाणा टूरिज्म के पर्यटन स्थलों के निजीकरण करने के फैसले की भी  निंदा की ओर 22 सितम्बर को टूरिज्म के चेयरमैन के पूंडरी निवास पर होने वाले प्रदर्शन का पुरजोर समर्थन का ऐलान किया।

आंदोलन की मुख्य मांगें निम्न होगी :-

आंदोलन की प्रमुख मांगों में 1983 बर्खास्त पीटीआई सहित तमाम छंटनी ग्रस्त कर्मियों को वापिस नोकरी पर लेना, ठेकेदारी प्रथा खत्म कर सभी प्रकार के पार्ट टाइम,टर्म अप्वाइंटी,मैस वर्कर, अनुबंध,तदर्थ,ट्रैनिज, दैनिक वेतन भोगी कर्मियों को नियमित करना और नियमित होने तक समान काम समान वेतन व सेवा सुरक्षा प्रदान करना, एनपीएस को बंद कर पुरानी पेंशन बहाल करना,महामारी की आड़ में सार्वजनिक क्षेत्र उपक्रमों एवं विभागों के किए जा रहे निजीकरण पर रोक लगाने,डीए, एलटीसी व नई भर्तियों पर लगाई गई रोक को हटाने और सभी आरक्षित श्रेणियों के बैकलाग को भरने,एचटेट की पात्रता अवधि नेट की तरह आजीवन करने और जेबीटी की भर्तियां करने, आन लाइन ट्रांसफर पॉलसी रद्द करना,नई शिक्षा नीति में शिक्षाविदों के सुझाव अनुसार संशोधन करना,वास्तविक खर्च पर आधारित कैशलेस मेडिकल सुविधा देने,एक्स ग्रेसिया रोजगार पॉलसी में लगाई गई शर्ते खत्म की जाए और पॉलसी बन्द होने के समय के मृतक कर्मियों के आश्रितों को भी नौकरी देना,धारा 311(2) एबीसी व यूएपीए जैसे काले कानूनों को रद्द करने और भाजपा-जजपा गठबंधन के चुनावी वायदों को लागू करना शामिल है। मीटिंग मे आल हरियाणा पावर कारपोरेशन वर्कर यूनियन यूनिट होडल उप प्रधान योगेश कुमार, संगठन सचिव अमर सिंह, सब यूनिट प्रधान रणसिंह, बलजीत शास्त्री जी, प्रकाश चंद स्टेट सचिव HIMSA, मास्टर शिवदयाल, वीरेंदर, धर्मबीर, रूपलाल आदि ने संबोधित किया।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।