समस्याओं से जूझता गजसिंहपुर सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र
September 14th, 2020 | Post by :- | 34 Views

गजसिंहपुर , (यश कुमार) । कस्बे का स्थानीय सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र श्रीगंगानगर जिले मे बेहतरीन सुविधाओं की सूची मे माना जाता हैं मगर अच्छी सुविधाएं कागजो मे ही सम्मलित है इस स्वास्थ्य केन्द्र मे अभी कुछ दिन पहले एक चिकित्सक की नियुक्ति भी हुई है इससे आमजन को खुशी हुई कि हमे एक और डाक्टर सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र मे मिला है मगर अभी भी इस हस्पपताल मे डाक्टरों की कमी महसूस हो रही है क्योंकि डॉक्टर अपनी डयूटी बेखुबी से नही निभा रहे है सिर्फ कुछ ही डॉक्टर इस सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र मे अपनी डयूटी बेखुबी से निभाते है मगर देखा जाये तो यह हस्पताल डाक्टरों के सहारे नही बल्कि नर्सिंग स्टाफ के कारण चल रहा है इस हस्पताल मे यदि किसी सिरियस मरीज को लाया जाता है तो उसे सम्भालने से पहले ही रैफर करने की तैयारियां शुरू हो जाती है और मरीज का आखिरी समय आने पर ही उसे रैफर किया जाता है जिससे कोई किस्मत वाला मरीज ही स्वस्थ हो पाता है रविवार को सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र सुबह नो बजे से लेकर 11 बजे तक खुलता है ।

रविवार को कस्बे की एक बुजुर्ग महिला मरीज अपनी तबीयत बिगड़ने के कारण अपने बेटे के साथ सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र मे पहुंची वहाँ जाकर एक पर्ची कटवाई पर्ची कटवाने के बाद वह डाक्टर के पास गई और बीपी चैक करने को कहा तो डाक्टर ने कहा की बीपी मशीन खराब है तो महिला दूसरे डॉक्टर के पास गई तो वह डॉक्टर बोला कि आप 19 नम्बर कमरे मे बीपी चैक करवा लो इसके साथ ही महिला ने आँखों की दवाई लिखने के लिए बोला तो डाक्टर ने कहा की आँखों की दवा भी वहीं से लिखवा लेना जहाँ पर बीपी की जांच करवाओगे व महिला डॉक्टर के कहे अनुसार 19 नम्बर कमरे में पहुंची तो वहां पर ताले लगे हुए थे और वहा पर कोई भी डॉक्टर मौजूद नही था जिससे महिला परेशान हो गई वही मौके पर मौजूद मेडिकल स्टाफ के गुरजीत सिंह ने महिला मरीज़ का मोके पर खड़ी एम्बुलेंस में पड़ी बीपी मशीन से बीपी की जांच करवाई और बुजुर्ग महिला बिना दवाई लिए निराश मन से खाली पर्ची लेकर अपने घर वापिस लौट आई और अपने बेटे को आपबीती सुनाई और कहा की इस हस्पताल मे न तो डाक्टरों की सुविधा है ।

डाक्टरों के कमरो पर ताले लगे है बीपी मशीन भी खराब है वहीं आमजन का भी कहना है कि क्या फायदा हमे ऐसे हस्पतालो का जहाँ हमे कोई सुविधा ही न मिले ओर कोई भी सिरियस मरीज तडप-तडप कर दम तोड दे और घंटो लाईनो मे कडकडाती धुप मे खडे रहकर पर्ची कटवाने मे इंतज़ार करना पड़े वही ना तो इस सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र मे बुहत अधिक सीरयिस मरीज की जान बचाने के लिए चिकित्सक की सुविधा है ना ही कोई उपाय , आमजन ने सरकार से गुजारिश की है कि ऐसे डाक्टर जिनको भगवान का रूप माना गया है अगर वे ही अपनी डयूटी बेखुबी नही निभाते तो तुरंत उन्हें हटाया जाये व अच्छे डाक्टरों की नियुक्ति की जाये जिससे आमजन को अच्छी सुविधा का लाभ मिल सके ।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।