मत्स्य पालन करके किसान बढ़ा सकता है अपनी आय, घाटे के डर से बाहर निकलकर करें मत्स्य पालन : चेयरमैन रणधीर गोलन
September 13th, 2020 | Post by :- | 37 Views

कैथल(विशाल चौधरी ब्यूरो चीफ लोकहित एक्सप्रेस)हरियाणा पर्यटन निगम के चेयरमैन एवं विधायक रणधीर सिंह गोलन ने कहा कि किसानों को अपने आय के साधन बढ़ाने के लिए मत्स्य पालन की तरफ भी रूख करना चाहिए। उन्होंने कहा कि सबसे पहले किसानों को घाटे के डर से बाहर निकलना होगा और सरकार की विभिन्न योजनाओं का लाभ प्राप्त करके इसकी तरफ बढऩा होगा।
चेयरमैन रणधीर सिंह गोलन गांव करोड़ा में किसान कुलदीप सिंह द्वारा बनाए गए मत्स्य पालन का उद्घाटन करने  के उपरांत किसानों को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि आज किसानों को अपनी सोच का दायरा बढ़ाना होगा और हमें परम्परागत खेती को छोडक़र अन्य आय के साधन हेतू व्यवसाय की तरफ रूख करना होगा। समय के अनुसार किसानों के पास जोत घटती जा रही है और आय कम हो रही है। अब स्थिति बदल गई है और किसानों को व्यवसाय करना चाहिए और वो भी अपने ही खेतो में। परंतू जानकारी के अभाव में किसान व्यवसाय की तरफ आगे कदम नही बढ़ा पाता, बल्कि डर जाता है, कहीं उन्हें घाटा न आ जाए। किसानों को निडर होकर मत्स्य पालन, मधु मक्खी पालन आदि करके अपने आय के स्त्रोत को बढ़ा सकते हैं।
उन्होंने मौके पर पहुंचे मत्स्य पालन विभाग के अधिकारियों को कहा कि वे गांव-गांव जाकर किसानों को जागरूक करें ताकि सरकार द्वारा क्रियान्वित की जा रही स्कीमों का पूर्ण लाभ उठा सके। मत्स्य पालन की  तकनीक से कम पानी में ज्यादा उत्पादन किया जा सकता है उन्होंने कहा कि जिस तरह से किसान कुलदीप सिंह ने सरकार द्वारा चलाई प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना के तहत 7 टैंकों में मत्स्य पालन का कार्य करेगा। सरकार द्वारा सामान्य वर्ग हेतू 40 प्रतिशत अनुदान दिया गया है। वहीं अनुसूचित जाति, जन जाति व महिला वर्ग को भी 60 प्रतिशत का अनुदान दिया जा रहा है। इस मौके पर डीएफओ सुरेंद्र कुमार, किसान कुलदीप बनवाला, निजी सचिव संजीव गामड़ी, नसीब, रविंद्र, धर्मा, बलवान, राजेश, नरेंद्र, राजेंद्र, पप्पू, संदीप, अंशुल, अंकित, राजेश शर्मा, दर्शन के अलावा अन्य ग्रामीण मौजूद रहे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।