कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए सभी करें नियमों का पालन :- एसडीएम बराड़ा
September 12th, 2020 | Post by :- | 116 Views

अंबाला , बराड़ा ( गुरप्रीत सिंह मुल्तानी )
एसडीएम बराड़ा गिरीश कुमार ने कहा कि कोरोना वैश्विक महामारी के दृष्टिगत हम सबको विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा जारी हिदातयतों की शत प्रतिशत पालना करते हुए कोरोना को हराने का काम करना हैं। दो गज की दूरी, मास्क व सैनिटाईजेशन का प्रयोग करते हुए हमें अपने जीवन को स्वयं सुरक्षित रखना है वहीं दूसरों के जीवन को भी सुरक्षित करने का काम करना हैं।
एसडीएम ने कहा कि कोरोना के दृष्टिगत लोगों से कहा है कि यदि किसी भी व्यक्ति को कोरोना से सम्बन्धित लक्षण नजर आते हैं तो वह तुरंत टैस्ट करवायें। यह उसके लिये बेहतर है। उन्होंने कहा कि कोरोना की जांच होने पर व्यक्ति का उपचार भी समय रहते किया जा सकता है। इसीलिये ग्रामीण व आमजन कोरोना टैस्ट करवाने से घबराएं नही।
उन्होनें यह भी कहा कि यदि किसी व्यक्ति को यह लगता है कि उसे कोरोना संक्रमण हुआ है तो वह उसे छुपाए नही बल्कि अपने नजदीकी स्वास्थ्य केन्द्र से इसका टैस्ट करवाए। यदि टैस्ट के दौरान व्यक्ति की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आती है तो उसका उपचार किया जा सकता है और इस संक्रमण को फैलने से रोका जा सकता है। उन्होंने यह भी कहा कि डॉक्टर की सलाह के बाद कोरोना संक्रमित व्यक्ति अपने घर में ही आइसोलेट हो सकता है, इसके लिए उसे स्वास्थ्य विभाग से सम्बन्धित सभी हिदायतों की पालना सुनिश्चित करनी होगी।
एसडीएम ने यह भी कहा कि आम जन के सहयोग से कोरोना संक्रमण को फैलने से रोका जा सकता हैं। लोगों की इसमें सहभागिता बेहद आवश्यक हैं। उन्होंने ग्रामीणों से एक अपील की कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा समय-समय पर कोरोना वैश्विक महामारी के बचाव बारे जो हिदायतें एवं सावधानियां बरतने बारे गाईडलाईन एवं प्रशासन द्वारा समय-समय पर जो सावधानियां बरतने बारे लोगों को जागरूक किया जाता हैं उसकी पालना करें। वे उसकी स्वयं पालना करें, बल्कि दूसरों को भी इसके लिए प्रेरित करें।

कोरोना संक्रमण के मद्देनजर जिला प्रशासन द्वारा हैल्प लाईन नम्बर-1950, स्वास्थ्य विभाग की हैल्पलाईन नम्बर 108, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र मुलाना- 8607071577, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र बराड़ा- 8053280287 जानकारी के दृष्टिïगत जारी किया हुआ हैं।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।