महिला बाल विकास सचिव श्री प्रसन्ना ने ली विभागीय समीक्षा बैठक आंगनबाड़ी केन्द्रों को खोलने के पूर्व सुरक्षा एवं संचालन संबंधी मुद्दो पर की चर्चा
September 12th, 2020 | Post by :- | 50 Views

कोंडागांव —-विगत 10 सितम्बर को महिला एवं बाल विकास विभाग के सचिव श्री आर प्रसन्ना द्वारा केशकाल विकासखण्ड मुख्यालय में विभाग के सभी अधिकारी-कर्मचारियों से पोषण संबंधी मामलों पर चर्चा हेतु समीक्षा बैठक बुलाई गई। इस बैठक में जिले के वरिष्ठ अधिकारी, सुपरवाइजर, आंगनबाड़ी कार्यकर्ताएं सम्मिलित हुई। इस बैठक में श्री प्रसन्ना ने विभिन्न मुद्दों जैसे कार्यकर्ताओं द्वारा अपूर्ण पंजियों की समस्या, आंगनबाड़ी भवनों के उन्नयन के लिए सुझावों, आंगनबाड़ी सेवाओं की बेहतर व्यवस्था आदि पर विस्तृत चर्चा की गई। इसके साथ ही सितम्बर माह में आंगनबाड़ी केन्द्रों को खोले जाने से पूर्व केन्द्रों में सुरक्षा संबंधी मानकों को पुरा करने के लिए समझाईश दी गई। उन्होंने कोविड-19 से बचाव के लिए केन्द्रों में सामाजिक दूरी, मास्क लगाने एवं सेनेटाईजर के प्रयोग को अत्यावश्यक बताते हुए केन्द्रों में सभी आवश्यक सुविधाओं को करने के निर्देश दिए साथ ही उन्होंने कहा कि सभी आंगनबाड़ी कार्यकर्ता अपने क्षेत्र में पालकों से घर पहुंच दिए जाने वाले रेडी टू ईट भोजन एवं आंगनबाड़ियों को खोले जाने के संबंध में प्रतिक्रिया ली जाये तथा पालकों को बच्चों को केन्द्रों में भेजने के लिए प्रेरित किया जाए, क्योंकि कुपोषण बच्चों के भविष्य के लिए बेहद खतरनाक है, कुपोषित बच्चे का सर्वांगीण विकास आगे चलकर बाधित हो जाता है। ऐसे में उसके सर्वांगीण विकास के लिए कुपोषण से मुक्ति आवश्यक है एवं कुपोषण के विरूद्ध जंग में आंगनबाड़ी केन्द्रों की अहम भूमिका रही है।
इस बैठक में श्री प्रसन्ना ने सुपोषण अभियान के लिए नई रणनीति के तहत् बताया कि महिला स्व-सहायता समूहों को इस अभियान का अहम हिस्सा बनाते हुए उनके द्वारा ग्राम में अथवा गोठानों में मुर्गी पालन, साग-सब्जी उत्पादन एवं मुनगे का वृक्षारोपण प्रत्येक आंगनबाड़ी में किया जाएगा। जिससे ग्राम में ही कुपोषण के विरूद्ध चलाये जा रहे अभियान को सहायता प्राप्त हो। इसके अतिरिक्त ग्राम के निकट वृहद क्षेत्र का चयन कर उनमें मुनगा वृक्षारोपण जिला प्रशासन के सहयोग से किया जाएगा।
इस अवसर पर सुपरवाइजर एवं आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं द्वारा उन्हें आंगनबाड़ी केन्द्र में हेण्डपम्प स्थापना, शौचालयों को पूर्ण करने, कार्यकर्ताओं को ड्रेस वितरण एवं कार्यकर्ताओं को प्राप्त होने वाली कंटेन्जेंसी राशि को बढ़ाने आदि समस्याओं एवं मांगो से अवगत कराया गया, जिसपर सचिव द्वारा उन्हें जल्द से जल्द पूर्ण किये जाने का आश्वासन प्रदान किया गया।
इसके अलावा मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान को गम्भीरता से संचालित करते हुए कुपोषित बच्चों को लक्षित कर कुपोषण के चक्र से बाहर निकालने के लिए जिले में ‘नंगत पीला‘ कार्यक्रम एवं अन्य किये जा रहे प्रयासों के प्रति सचिव श्री प्रसन्ना ने संतुष्टि व्यक्त की साथ ही पोषण वाटिका एवं फलदार पौधों के विस्तार हेतु निर्देशित किया। इस बैठक में अनुविभागीय अधिकारी केशकाल डीडी मण्डावी, जिला कार्यक्रम अधिकारी वरूण सिंह नागेश, परियोजना अधिकारी मोहम्मद इमरान अख्तर, दीपेश सिंह बघेल, नरेन्द्र सोनी एवं विभाग के अन्य अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित रहे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।