ब्राह्मण समाज से माफी मांगे मनोहर लाल:सैनी
September 12th, 2019 | Post by :- | 93 Views

यमुनानगर, लोकहित एक्सप्रेस( सुरेश अंसल)। लोकतंत्र सुरक्षा पार्टी के सुप्रीमों एवं पूर्व सांसद राजकुमार सैनी ने हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल के उस वायरल वीडियो की कड़े शब्दों में आलोचना की है जिसमें वह हाथ में फरसा लेकर एक कार्यकर्ता को गला काटने की बात कर रहे हैं। सैनी ने बृहस्पतिवार को रादौर के गांव बुबका में कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल आज सत्ता के नशे में पूरी तरह से चूर हो चुके हैं।
पहले ब्राह्मण समाज के मंगल पांडे के बारे में आपत्तिजनक टिप्पणी की और अब ब्राह्मण समाज के नेता को फरसे से काटने की बात की है। इससे पहले भाजपा सरकार के कार्यकाल में ही एक परीक्षा के दौरान ब्राह्मणों के बारे में आपत्तिजनक सवाल पूछा गया था।
सैनी ने मुख्यमंत्री मनोहरलाल को दलितों,पिछड़ों व अल्पसंख्यकों का विरोधी करार देते हुए कहा कि सीएम की इस कार्रवाई से समूचे ब्राह्मण समाज में रोष पाया जा रहा है। मुख्यमंत्री को बिना किसी देरी के इस मुद्दे पर सार्वजनिक रूप से माफी मांगनी चाहिए। उन्होंने कहा कि पिछले पांच साल तक हरियाणा को जलवाने के बाद अब मुख्यमंत्री ने चुनाव आचार संहिता लागू होने से कुछ समय पहले कई बड़ी-बड़ी घोषणाएं करके हरियाणा के लोगों को गुमराह करने का काम किया है। सैनी ने कहा कि प्रदेश के लोग भाजपा की जनविरोधी कार्रवाईयों से तंग हैं।
भाजपा द्वारा 75 पार के नारे की खिल्ली उड़ाते हुए सैनी ने कहा कि प्रदेश में 52 प्रतिशत पिछड़ा वर्ग तथा 23 प्रतिशत दलित समुदाय के लोग मिलकर भाजपा को हरियाणा से 75 किलोमीटर दूर भेजने की काम करेंगे। क्योंकि इस सरकार में सबसे अधिक उत्पीडऩ दलितों व पिछड़ों का हुआ है। सैनी ने कहा कि लोकतंत्र सुरक्षा पार्टी द्वारा प्रदेश के सभी 90 विधानसभा क्षेत्रों में चुनाव लड़ा जाएगा। इसके लिए प्रत्याशियों की चयन प्रक्रिया जारी है और बहुत जल्द प्रत्याशियों की पहली सूची जारी कर दी जाएगी।
इस अवसर पर लोकतंत्र सुरक्षा पार्टी के यमुनानगर जिला अध्यक्ष ओमप्रकाश सैनी, शिक्षा प्रकोष्ठ के प्रदेशाध्यक्ष मनोज बकाना, रादौर युवा अध्यक्ष तिलक राज, जिला युवा अध्यक्ष दिनेश कंबोज, वरिष्ठ नेता पूर्व सरपंच रामकंवर, बख्शीश कुमार, गुरदयाल सिंह, रणबीर सिंह, रतन समेत कई गणमान्य व्यक्ति मौजूद रहे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।